ताज़ा ख़बर

PNEWS LIVE TV

बिहार में नितीश कुमार के कार्य से आप

Advertising Panel

Advertising Panel
PNews.co.in
कावड़ियों के बिच मची भगदड़ कई काँवरिया घायल।
ब्यूरो रिपोर्ट मुजफ्फरपुर:-  
 मुजफ्फरपुर में सावन के तीसरे सोमवार को सुबह-सुबह गरीबनाथ मंदिर में जलाभिषेक के दौरान भगदड़ मच गई. इस भगदड़ में कई कांवड़ियों समेत कुल 25 लोगों के घायल होने की खबर है. घायलों में महिला और बच्चे भी शामिल हैं.
आज सावन का तीसरा सोमवार होने की वजह से श्रद्धालु इकट्ठा हुए थे. बताया जा रहा है कि यहां सावन में लाखों की संख्या में लोग एकत्रित होते हैं.
बिहार सरकार ने सावन के दौरान श्रद्धालुओं की भीड़ को नियंत्रित करने के तमाम दावे किए थे. लेकिन सोमवार तड़के हुए इस हादसे से प्रशासन के दावे की पोल खुल गई.
मुजफ्फरपुर के हरि सभा चौक के पास भगदड़ की स्थिति हो गई. यह घटना जलाभिषेक के दौरान हुई जिसमें 25 लोग घायल हो गए. इनका इलाज मुखर्जी सेमिनरी स्थित मिनी अस्पताल में चल रहा है. अघोरिया बाजार, आमगोला पुल, हरिसभा चौक, साहू रोड में मचा भगदड़। कई काँवरिया घायल स्तिथि गंभीर
PNews.co.in
अश्लील गीत  गाने और रिकार्डिंग करने पर हुई स्थानीय लोक गायक की पिटाई 


छपरा।बनियापुर थाना क्षेत्र के पैगंबरपुर चौके के पूरब रविवार की रात एक भोजपुरिया लोक गायक व जलालपुर थाना क्षेत्र के मानपुर गांव निवासी ओमप्रकाश गुप्ता की कुछ लोगों ने पिटाई कर दी। इस मामले को ले पीड़ित गायक कलाकार बनियापुर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई है। जिसमें गांव के तीन युवकों को नामजद किया है। जिस दर्ज प्राथमिकी में जलालपुर थाना के मानपुर गांव निवासी भोजपुरी व्यास ओमप्रकाश अमृत द्वारा बताया गया है कि रविवार की रात केसरी बाजार स्टूडियो में गाना कंपोज करवाकर आ रहा था कि बनियापुर थाना क्षेत्र के पैगम्बरपुर चौक से पूर्व गांव के हरेराम प्रसाद, हरिशंकर प्रसाद तथा सोमनाथ कुमार बाइक से रोक लिए और मारपीट कर जख्मी कर दिया। बंदूक भिड़ा कर पॉकेट से 26 हजार रुपये निकाल लिए जाने की बात भी बताई गई है। वहीं गांव के लोगों का आरोप है कि उक्त व्यास अश्लील गाना गाता है। गांव के लोगों द्वारा मना किया जा रहा था। इस मामले में व्यास द्वारा झूठा आरोप लगाया गया है।
PNews.co.in
जन्मदिन के अवसर पर पौधा लगाने की परंपरा का हो पालन :- ओम प्रकाश भारद्वाज पुट्टू

जहाँ एक तरफ शहर में पौधे ,पेड़ों की घटती संख्या चिंता का विषय बन गया है , तो वहीं दूसरी ओर पिछले 4 वर्षों से स्वछता , सुंदरता, हरियाली व खुशहाली  को समर्पित साईकिल यात्रा-एक विचार के सभी साईकिल यात्री जगह जगह पौधे लगाकर देवतुल्य कार्य कर रहे हैं । इनलोगों के द्वारा सिर्फ पौधा लगाकर छोड़ ही नहीं दिया जाता बल्कि समय समय पर उसके संरक्षण व संवर्धन की नैतिक जिम्मेदारी का पालन भी किया जाता है । साईकिल यात्री अभिनव राय ने स्थानीय लोगों के बीच बताया कि हम सभी साईकिल यात्रा एक विचार के सदस्य पौधे लगाने के साथ साथ किसी भी शुभ कार्य में चाहे जन्मदिन हो , सालगिरह हो या कोई अन्य शुभ कार्य हो इस सब मौके पर पौधे देने व लगाने की परिपाटी का शुभारंभ किया है । वहीं साईकिल यात्री अजीत कुमार ने बताया कि धीरे धीरे ही सही इस परिपाटी को आमजनमानस ने भी दिल से स्वीकार कर ऐसा ही कुछ करते हैं। साईकिल यात्रा एक विचार के  ओम प्रकाश भारद्वाज पुट्टू ने बताया कि हम सभी युवाओं की टोली देश सेवा में लगे हुए हैं, पौधे लगाना उसकी देखभाल करते हुए उसका वृद्धि करना व पर्यावरण की रक्षा करना निश्चितरूपेन देवतुल्य कार्य की श्रेणी में आता है । वहीं आशीष कुमार ने कहा कि साईकिल यात्रा एक विचार के साईकिल यात्री अमित जायसवाल के जन्मदिवस के अवसर पर हम सभी साईकिल यात्रियों के द्वारा रतनपुर चतुर्भुज पोखड़ के किनारे कुल 9 पौधे 【1 स्वर्णचम्पा, 1 रातरानी, 1 कामिनी, 4 अशोक, 2 गुलफरोस】लगाए गए । वहीं साईकिल यात्री सुमित कुमार ने कहा कि जिस तरह हम सभी साईकिल यात्री मित्र के जन्मदिन या किसी भी शुभ अवसर पर पौधारोपण करते हैं उसी तरह आपसबों को भी ऐसा करके पर्यावरण को हरा भरा रखने में अपना सकारात्मक योगदान देना चाहिये । सभी साईकिल मित्र अपने अपने पॉकेट मनी से ही उपरोक्त कार्य करते हैं। किसी व्यक्ति,समूह,सरकार से किसी भी प्रकार का कोई सहयोग नही लेकर अपनी जन्मभूमि की भलाई का कार्य करते हैं ।
आज की यात्रा में ओमप्रकाश भारद्वाज पुट्टू, अजीत, सुमित, आशीष,विवेक,छोटू,अभिनव,अंकित,नितीश एवं राणा राज शामिल थे ।
PNews.co.in
मुजफ्फरपुर: गरीबनाथ मंदिर में जलाभिषेक के दौरान मची भगदड़, 15 लोग घायल

सभी घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है

मुजफ्फरपुर.बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में सावन की तीसरी सोमवारी को बड़ा हादसा हुआ है। गरीबनाथ मंदिर में जलाभिषेक के दौरान भगदड़ मच गई जिसमें 15 से ज्यादा लोग घायल हो गए। सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घायलों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं। डॉक्टरों ने सभी को प्राथमिक उपचार के बाद डिस्चार्ज कर दिया है।

जलाभिषेक के लिए उमड़ी भारी भीड़
सावन की तीसरी सोमवारी पर गरीबनाथ मंदिर में जलाभिषेक के लिए 2 लाख से ज्यादा लोग पहुंचे हैं। हरिसभा चौक स्थित ओवरब्रिज पर कांवरियों की लगी लाइन में भीड़ बेकाबू हो गई जिसकी वजह से भगदड़ मच गई। इस दौरान पुल पर रस्सी से बनी बैरिकेडिंग टूट गई। इससे कई कांवरिये गिर कर घायल हो गए। कई कांवरिये बेहोश भी हो गए।

पुलिस ने कहा-हालात नियंत्रण में है
पुलिस का कहना है कि कांवरियों से लगातार जलाभिषेक के दौरान शांति बनाए रखने की अपील की जा रही थी। सुबह चार बजे तक कई बार भीड़ अनियंत्रित हुई थी। जवानों ने बताया कि वो कांवरियों से लाइन में लगने का आग्रह करते रहे, लेकिन भीड़ में कोई सुनने को तैयार नहीं था। हादसे के बाद पुल पर कांवरियों को एक-एक कर आगे भेजा जा रहा था लेकिन पहले पहुंचने के क्रम में भगदड़ मच गई। फिलहाल हालात नियंत्रण में है।
PNews.co.in
आज शिव सेना समाजवादी की एक विशेष बेठक की गयी जिसमें विशेष रूप से समलित हुए उत्तर भारत उप प्रमुख मैडम पुष्पा गिल, वाइस प्रधान पंजाब चंद्रप्रकाश, सीनियर वाइस प्रधान पंजाब शेर सिंह, जिला वॉइस प्रधान गौरव पुरी, जिला संगठन मंत्री लवली, सिटी चेयरमैन निशान अपने सम्बोधन में पुष्पा गिल,     चंद्रप्रकाश,शेर सिंह  ने कहा की रेफ़्रेंडम 2020 व जनमत संग्रह करवा कर पंजाब को ख़ालिस्तान बनाने की माँग करने वाले सिख फ़ोर जस्टिस व आतंकी परमजीत पम्मा के मुँह पर शिव सेना समाजवादी ने पूरे पंजाब में रेफ़्रेंडम 2020 के ख़िलाफ़ भूख हड़ताल व रोष मार्च व रेफ़्रेंडम 2020 के पुतले साँड़ कर एक कड़ा जवाब दिया हे व लडन में हुई ख़ालिस्तान रेलि के ख़िलाफ़ उनके सामने देश भक्तों ने (वी सपोर्ट इंडिया) ओर (वी लव इंडिय) जेसे एक केम्पेन व हिंदुस्तान ज़िंदा बाद के नारे लगाकर विदेशों में रह रहे भारतीयों व पंजाब में रह रहे हिंदू व सिख भाईचारे का कड़ा संदेश दिया हे जिससे साफ़ ज़ाहिर होता हे की पंजाब व विदेशों में रह रहे सचे देश भक्त ख़ालिस्तान बनाने के ख़िलाफ़ हे। शिव सेना समाजवादी रेफ़्रेंडम 2020 के ख़िलाफ़ अपनी कारवाई को पूरे पंजाब में जारी रखेगी। परमजीत पम्मा व पाकिस्तान की आइ.एस.आइ पंजाब में हिंदू सिख दंगे करवाह आतंकवाद का दोर वापिल लाना चाहती हे। ख़ालिस्तान की माँग करने वाले पंजाब में रह रहे हिंदूओ को पंजाब से निकालना चाहते हे जो की शिव सेना समाजवादी कभी नहि होने देगी चाहे इसके लिए हमें अपना बलिदान क्यूँ ना देना पड़े। हम सरकार से माँग करते हे की पंजाब में ख़ालिस्तान बनाने के समर्थन में हर आवाज़ उठने वाली को जड़ से उखाड़ देना चाहिए। इस बेठक में समलित हुए-
हैप्पी शर्मा सनी राजीव शर्मा बलविंदर कमल गगन और भी काफी शिवसैनिक शामिल हुए |
PNews.co.in
दो मासूम बच्चियों को क्‍लास में बंद किया और भूलकर घर चले गये ।
विनय कुमार मिश्र गोरखपुर ब्यूरों।पादरी बाजार के हैदरगंज में नवोदय विद्या मंदिर के एक शिक्षक ने कक्षा दो में पढ़ने वाली दो बच्चियों को होमवर्क पूरा नहीं होने पर ऐसी सजा दी कि सभी हैरान रह गए। होमवर्क पूरा नहीं होने पर शिक्षक ने बच्चियों को सजा के लिए (प्रिंसिपल) अनुराग श्रीवास्‍तव के कमरे में भेजा तो प्रिंसिपल ने सजा के तौर पर 7वीं और 8वीं क्‍लास के समय उन्‍हें पुराने ऑफिस में बैठने को कह दिया।दोनों बच्चियां पुराने ऑफिस में जाकर बैठ गईं. उसके बाद उन्‍हें उन्‍हीं के क्‍लास रूम में सजा के तौर पर बंद कर दिया गया और जब स्‍कूल की छुट्टी हुई, तो प्रिंसिपल और शिक्षिका भी भूल गए कि क्‍लास रूम में दोनों बच्चियां बंद हैं।स्‍कूल बंद होने के बाद सभी शिक्षक और कर्मचारी अपने अपने घर चले गए।क्‍लास रूम में बंद दोनों बच्चियां बदहवास होकर चिल्‍लाती रहीं, लेकिन उनकी आवाज सुनने के लिए वहाँ स्कूल में कोई मौजूद नहीं था।जब शाम 5 बजे तक बच्चियां घर नहीं पहुंची, तो परिजनों को उनकी चिंता सताने लगी। परिजन बच्चियों को ढूंढते हुए शाम 5 बजे के करीब स्‍कूल पहुंचे।परिजन स्‍कूल के गेट पर ताला बंद देख कर घर वापस जा रहे थे। एक बच्ची के पिता ने अपनी बच्ची को गेट के बाहर से जोर से आवाज दी। पिता की आवाज सुनकर बच्ची जोर-जोर से रोने लगी।गेट से कमरा करीब होने के कारण गिरधारी ने भी बच्‍ची की आवाज सुन ली और वो गेट लांघकर अंदर घुसा और कमरे में लगी लकड़ी के दरवाजे वाली बगैर ग्रिल की खिड़की के रास्‍ते दोनों को बाहर निकाला।स्कूल प्रशासन के लापरवाही की पूरी दस्ता बच्चियों ने खुद अपने परिजनों को सिलसिलेवार तरीके से बताया। रविवार को प्रबंधक ओपी श्रीवास्‍तव के बुलाने पर परिजनों के साथ स्‍कूल पहुंची बच्चियों ने सिलसिलेवार घटना के बारे में जानकारी दी। लेकिन प्रबंधक ओपी श्रीवास्‍तव और प्रिंसिपल अनुराग श्रीवास्‍तव पूरे घटनाक्रम को झूठा बता रहे हैं।फ़िलहाल परिजनों ने अभी इसकी शिकायत पुलिस से नहीं की है। लेकिन बताया जा रहा है कि स्‍कूल प्रबंधन की लापरवाही का ये पहला मामला नहीं है।ऐसे मामले पहले भी प्रकाश में आते रहे हैं।