पटना, सनाउल हक़ चंचल

पटना। पुराने सचिवालय के समीप तीव्र गति से आ रही 407 पुलिस वैन ने पीछे से मिट्टी लदी ट्रैक्टर में पीछे से जबदस्त टक्कर मार दी. इसके कारण वैन में सवार सात पुलिसकर्मी घायल हो गये. जबकि ट्रैक्टर चालक सुरेश भी गंभीर रूप से घायल हो गया. घायल पुलिसकर्मियों में नरेश प्रसाद, अमरेंद्र सिंह, जगदीश सिंह, प्रेम सागर उपाध्याय, शिव प्रकाश सिंह, राजकुमार पासवान शामिल है. जबकि सिपाही उपेंद्र कुमार को हल्की चोटें अायी है.

इन सभी पुलिसकर्मियों को इलाज के लिए पीएमसीएच में भर्ती कराया गया है. घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस के वरीय अधिकारी भी घटनास्थल के साथ ही पीएमसीएच पहुंचे थे. हालांकि पीएमसीएच में पुलिस वैन का चालक नहीं था. संभवत: उसे चोटें नहीं आयी थी. सूत्रों का कहना है कि पुलिस वैन की आगे की लाइट कमजोर होने के कारण यह हादसा हुआ और ट्रैक्टर के पीछे भी लाल बत्ती नहीं थी.

वैन की लाइट थी कमजोर, नहीं दिखा ट्रैक्टर

बताया जाता है कि दानापुर पुलिस ने 12 लोगों को शराब पीने व बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया था. इन सभी आरोपितों को दानापुर कोर्ट में उपस्थित कराने व जेल ले जाने के लिए पटना पुलिस लाइन से दस सिपाही गये थे. वे सभी दानापुर थाना गये और 12 लोगों को पुलिस वैन में लेकर दानापुर कोर्ट गये और वहां से फिर फुलवारीशरीफ जेल गये. जहां आवश्यक प्रक्रिया करने के बाद सभी को फुलवारीशरीफ जेल में छोड़ दिया. प्रक्रिया करने व लौटने के क्रम में करीब रात आठ बज गयी.

इसी दौरान सचिवालय के समीप काफी तेज गति से होने के कारण मिट्टी लदे ट्रैक्टर में पीछे से टक्कर मार दिया. जिसके कारण जोर का झटका लगा. वैन के आगे का सीसा फूट गया और जो भी वैन के अंदर बैठे थे, वे सभी सामने की सीट के रॉड से टकराये. जिसके कारण तमाम पुलिसकर्मियों में किसी को सिर में तो किसी को मुंह में तो किसी को सीने में काफी चोटें आयी. घटना की जानकारी मिलने पर गर्दनीबाग, सचिवालय थाना की पुलिस पहुंची और सभी घायलों को अपने साथ पीएमसीएच ले आयी. पीएमसीएच में पहले से ही तैयारी थी और सभी को एडमिट करा दिया. सभी पुलिसकर्मियों की हालत खतरे से बाहर है. ट्रैक्टर चालक सुरेश प्रसाद को भी काफी चोटें आयी है, हालांकि उसकी हालत भी खतरे बाहर है.

Post A Comment: