पटना, सनाउल हक़ चंचल-

औरंगाबाद। शराबबंदी के बावजूद शराब बेचने के मामले में डीएम कंवल तनुज ने सख्त कार्रवाई किया है। डीएम के आदेश पर सीओ राघवेंद्र दयाल एवं कासमा थानाध्यक्ष की उपस्थिति में मकान एवं गुमटी को ध्वस्त किया गया है। थानाध्यक्ष संजय कुमार ने बताया कि बुढि़ला गांव के राजबल्लभ भुईयां का मकान एवं हेमराज यादव का बेल बीघा स्थित गुमटी ध्वस्त किया गया। राजबल्लभ भुईयां के मकान से कुछ माह पूर्व शराब बरामद की गई थी। मामले में कांड संख्या 15/2017 दर्ज किया गया था। हेमराज यादव गुमटी में शराब रखकर बेचता था। पुलिस ने गुमटी से शराब बरामद किया गया था। मामले में कांड संख्या 20/17 दर्ज की गई थी। सीओ राघवेंद्र दयाल ने बताया कि जिला पदाधिकारी के द्वारा उत्पाद अधिग्रहण वाद संख्या 134/17 की सुनवाई करते हुए निर्देश दिया गया कि राजबल्लभ भुइंया का मकान एवं हेमराज यादव का गुमटी ध्वस्त किए जाने का निर्देश दिया गया। मकान ध्वस्त होते देख चोरी छिपे शराब का व्यवसाय करने वाले लोगों में हड़कंप मचा है। सीओ ने बताया कि कानून तोड़ने वाले को बख्शा नहीं जाएगा। किसी भी स्थिति में शराब रफीगंज क्षेत्र में पूर्ण बंदी रहेगी। वहीं थानाध्यक्ष ने बताया कि अवैध रूप से शराब की बिक्री एवं खरीद करते पकड़े जाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। जो लोग भी शराब बेचते पकड़े जाएंगे, उन्हें जेल भेजा जाएगा। डीएम के इस आदेश से इलाके में हड़कंप व्याप्त है। शराब के कारोबारी सकते में हैं।

शराब के मामले में जिले में पहली बार ध्वस्त किया गया मकान

सूबे में शराबबंदी कानून के लागू होने के बाद जिले में शराब तस्करी करने के मामले में पहली बार मकान ध्वस्त किए जाने जैसी कार्रवाई की गई है। इस कार्रवाई के बाद शराब तस्करों में हड़कंप व्याप्त है।

Post A Comment: