इस्लामाबाद:-पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को यदि सुप्रीम कोर्ट संवेदनशील पनामा पेपर्स मामले में कथित भ्रष्टाचार एवं धनशोधन के लिए अयोग्य ठहराता है तो उनके छोटे भाई एवं पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री शहबाज शरीफ उनकी जगह ले सकते हैं। एक मीडिया रिपोर्ट में यह बात कही गई है। शहबाज संसद के निचले सदन नेशनल असेम्बली के सदस्य नहीं हैं, इसलिए वह तत्काल उनका स्थान नहीं ले सकते और उन्हें चुनाव लड़ना होगा।
‘जियो न्यूज’ ने सूत्रों का हवाला देते हुए कहा कि शहबाज के उपचुनाव में चुने जाने तक रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ के 45 दिनों तक अंतरिम प्रधानमंत्री के तौर पर कार्यभार संभालने की संभावना है। यह निर्णय सत्तारूढ़ पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल-एन) की शुक्रवार को हुई उच्च स्तरीय बैठक में लिया गया। बैठक के दौरान यह फैसला किया गया कि यदि निर्णय प्रधानमंत्री के खिलाफ आता है तो पार्टी सभी उपलब्ध कानूनी एवं संवैधानिक विकल्पों का इस्तेमाल करेगी। इस बैठक की अध्यक्षता प्रधानमंत्री शरीफ ने की।

Post A Comment: