जिस त्योहार का इंतजार लोगों को साल भर रहता है, आख़िरकार वो त्योहार आ गया. देशभर में गणेश चतुर्थी का त्योहार 25 अगस्त से आरंभ होगा. वहीं महाराष्ट्र समेत पूरे देश में गणेशोत्सव की तैयारियां शुरू हो गई हैं. गणेशोत्सव देश भर में बड़े उत्साह से मनाया जाता है, लेकिन बात करें महाराष्ट्र की तो यहां की बात ही निराली है. दस दिनों तक गणेशोत्सव का त्योहार बड़े ही धूम-धाम से यहां मनाया जाता है.

मुंबई के सबसे प्रसिद्ध और इच्छालु लालबाग के राजा की बात ही अलग है. लालबाग के राजा को ‘नवसाचा गणपति’ भी कहा जाता है. यह सबसे प्रसिद्ध गणेश मंडल है. इसकी शुरुआत 1934 में हुई थी. इस बार इस मंडल में 4000 से अधिक महिला-पुरुष कार्यकर्ता सेवाएं देंगे. लालबाग के राजा में लोगों को काफी श्रद्धा है इसलिए इसके दर्शन के लिए काफी भीड़ जुटती है. इस साल हर मिनट करीब 1000 से 1200 लोगों के दर्शन का अनुमान है. दर्शन करने वालों की लाइन 5-6 किमी तक लंबी हो जाती है.

इतना ही नहीं पर मन्नतों के देवता लाल बाग के राजा का 51 करोड़ का बीमा हुआ है जिसमें मंडप का 3.50 करोड़ रुपये का बीमा है, 7.5 करोड़ रुपये के गहनों का बीमा है, तीसरे पक्ष के देनदारियों को 10 करोड़ रुपये की राशि और 30 करोड़ रुपये तक की आकस्मिक बीमा राशि के लिए बीमा किया गया है.

इस वर्ष गणेशोत्सव 10 नहीं बल्कि 11 दिनों तक मनाया जाएगा. गणेशोत्सव 25 अगस्त से आरंभ होगा तो वहीं 5 सितंबर को यानी अनंत चतुर्दशी पर विसर्जन किया जाएगा

Post A Comment: