यू पी से संवाददाता ( आलिया )


धरना शुरू करने से पहले विवि के छात्रसंघ भवन में छात्रों ने एक प्रेसवार्ता की। इस वार्ता में छात्र नेता पुनीत सिंह, समाजवादी छात्रसभा प्रतिनिधि,ABVP, अन्य छात्रसंगठन वा आम छात्र भी शामिल रहे। धरने पे बैठे छत्रों का दावा है की मांगें पूरी न होने तक धरना 24 घंटे जारी रहेंगे और आगे चल कर ये आमरण अनशन का रूप भी ले सकता है। इस दौरान तमाम छात्र नेता और बड़ी संख्या में छात्र मौजूद है इनलोगो का कहना है के छात्रों और विवि और प्रशासन के बीच सामंजस्य बनाए रखने के लिए छात्रसंघ चुनाव का होना ज़रूरी है।






आपको बता दे 2007 में लखनऊ विवि आखरी बार चुनाव हुए थे। 2012 में चुनाव की तारीख़ घोषित हो गई थी, 15 अक्टूबर 2012 में चुनाव होना था पर इसके  बाद हेमंत सिंह की याचिका पर चुनावो पर रोक लगा दी गई थी।

Post A Comment: