अरुण साहू ,सुल्तानपुर :
हलियापुर थाने के आमघाट पुल के पास17अकुटूबर को शाग५ बजे मिली अज्ञात युवती की लाश की सिनाख्त का रहस्य और उलझा विदित हो कि १८अक्टूबर को पुलिस ने उक्त लाश का पंचायत नामा करके १९अक्टूबर को शव को पीएम के लिए सुलतान पुर भेजा इसी बीच मवई थाने के इंटहा गांव जनपद फैजाबाद निवासी जंग बहादुर सिंह पुत्र रतनपाल सिंह को जरई कला गांव निवासी एक रिस्तेदार ने सूचना दी की तुम्हारी भतीजी बबली सिह उम्र १७वर्ष की लाश हलियापुर थाने  में बरामद हुई है आक पहचान करले मिृतक लड़की के मांता पिता की मौत पहले ही होचुकी थी लड़की के चाचा हलियापुर थाने पहुंचे फोटो देख कर पहचान की और बताया कि उक्त लाश हमारी भतीजी बबली की है पुलिस लाश को पोष्ट मार्टम के बाद हलियापुर लाकर पहचान करने वाले चाचा को लिखा पढी़ कर सुपुर्दगी में दे दी परिवार वाले उक्त लाश को मवई (इंटहा)गाव लेजाकर २०अक्टूबर को दाह संस्कार कर दियाथा विदित हो कि इंटहा निवासी जंगबहादुर की भतीजी बबली सिंह बीते १अक्टूबर को घर से स्कूल के लिए निकली और फिर अपने प्रेमी के साथ भाग कर हलद्वानी उत्तरा खंड पहुंच गई थी परिवार वालो ने मवई थाने में अपहरण का मुकदमां१५अक्टूबर को मवई थाने में लिखायाथा हलद्वानी से प्रेमी संग भागी लड़की बबली ने सुबेहा थाने के चिरैया गांव निवासी अपने जीजा अरजुन सिंह को फोन करके बताया कि हम उत्तरा खंड के हलद्वानी में हूं हमें यहां से ले चलो तो जीजा ने घर पर सूचना और फिर मवई पुलिस वहां पहुंचकर लड़की को बरामद करके ले आई और प्रेमी की तलाश कर रही है लड़की बरामद होने के बाद परिवार वाले हलियापुर थाने पहुं चे और तहरीर देकर कहा हम शक्ल होने के कारण लाश पहचानने में भूलहुई और इस प्रकार उक्त अज्ञात लाश की पहचान फिर एक बार उलझ कर रह गई और उक्त मांमले मे पुलिश की जल्द बाजी बिना पूरीतरह तथ्यो की जांच पड़ताल किए आनन फानन मे लाश को सुपुर्द कर देना एक बड़ी लापर वाही की मांमला सामने आया है

Post A Comment: