( कुलदीप वर्मा पानीपत) : मतलौडा नकाबपोश बाइक सवार बदमाश ने मंगलवार सुबह मतलौडा अनाज मंडी के मुख्य गेट पर बाइक सवार मुनीम को पीछे से लात मारी और फिर तमंचे से गोली चला दी। मुनीम गोली लगने से बच गया लेकिन बाइक से गिरकर घायल हो गया। बदमाश ने तमंचे में दूसरी गोली लोड की लेकिन गोली जमीन पर गिर गई। बदमाश मुनीम से एक लाख रुपये से भरा थैला लूटकर फरार हो गया। इस वारदात से खफा मंडी से आढ़तियों व मुनीमों ने भालसी मोड़ पर जींद हाईवे पर जाम लगाकर सरकार व पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। एसपी राहुल शर्मा मौके पर पहुंचे तो उनसे थाना प्रभारी नरेंद्र दहिया व डीएसपी बली सिंह कातबादला करने और पलिस लाइन रिजर्व गार्द प्रभारी इंस्पेक्टर राजेंद्र सिंह को थाना प्रभारी बनाने की मांग की। एसपी शर्मा ने उन्हें आश्वासन दिया कि 48 घंटे में लुटेरे को पकड़ लिया जाएगा। तभी आढ़ती हाईवे से हटे। शाम को राजेंद्र को थाना प्रभारी बना दिया और नरेंद्र दहिया को लाइन हाजिर किया गया। घटना मंगलवार सुबह 11 बजे की है।
मतलौडा अनाज मंडी के आढ़ती बलवान सिंह हुड्डा व पवन कुमार की दुकान नंबर 71 पर धर्मगढ़ का रवींद्र मुनीम है। रवींद्र ने बताया कि उसने मतलौडा गांव स्थित पंजाब नेशनल बैंक की ब्रांच से डेढ़ लाख रुपये निकलवाए थे। एक लाख रुपये थैले में और पचास हजार रुपये जेब में पेंट की डाल अनाज मंडी में अपनी दुकान पर बाइक से जा रहा था। मंडी के मेन गेट पर पीछे से नकाबपोश बदमाश ने पीछे से आवाज लगाई कि उसे कोई बुला रहा है। तभी बदमाश ने उसकी बाइक को टक्कर मार दी। वह बाइक समेत नीचे गिरा तो बदमाश ने तमंचे से फायर कर दिया। बदमाश ने तमंचे में दूसरा कारतूस लोड करने का प्रयास किया लेकिन कारतूस जमीन पर गिर गया। तभी बदमाश एक लाख रुपये से भरा थैला लूटकर बाइक से फरार हो गया। वारदात के बाद मतलौडा अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन के अध्यक्ष विजय छाबड़ा और अन्य आढ़तियों ने दोपहर 12 बजे जींद हाईवे पर जाम लगा दिया और नारेबाजी करने लगे। मौके पर डीएसपी बली सिंह व थाना मतलौडा प्रभारी नरेंद्र दहिया पहुंचे। उन्होंने लोगों को हाईवे से हटाने का प्रयास किया लेकिन वे नहीं माने। वे अड़े हुए थे कि एसपी मौके पर आएंगे। उनसे बात होगी, तभी वे हटेंगे। जाम लगने से वाहनों की कतारें लग गई। छोटे वाहनों को अप्रोच रोड से भेजा गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी मौके पर पहुंचे और आढ़तियों को आश्वासन दिया कि आपराधिक वारदातों को रोका जाएगा। बदमाश को पकड़ने के लिए मामले की जांच सीआइए 1 व 2 की टीमें लगी हैं। डेढ़ बजे जाम खुला। तभी वाहनों की आवाजाही हुई। सीआइए-1 पुलिस रवींद्र से भी पूछताछ कर रही है। इसके अलावा उन पुराने अपराधियों का रिकार्ड खंगाला जा रहा है जो लूट के मामले में जेल से जमानत पर हैं।

Post A Comment: