रोसड़ा अनुमंडल के भिरहा गांव से एक हृदय विदारक घटना की सूचना मिली है।

 पंकज /ब्रजेश की रिपोर्ट :रोसरा :
   गुरुवार के शाम में भिरहा गांव के बरैवा टोल पोखर पर लोग छठ पूजा की तैयारी में लगे थे। वहाँ रात में पर्द पर फ़िल्म दिखाया जाने वाला था। यह बात सुनकर गाँव के हरे किसुन पंडित का दस वर्षीय पुत्र। लखिन्द्र पण्डित शाम के लगभग चार बजे में पोखर पर पहुँचा। रात भर वह घर नहीं लौटा। घर के लोग समझ रहे थे कि वह पोखर पर ही फ़िल्म देखने मे लगा होगा। शाम का अर्ध्य खत्म हुआ। रात भर फ़िल्म चली। सुबह के अर्ध्य के लिए लोग आए। छठ पूजा सम्पन्न हो गया। पर  दस बजे तक भी जब वह घर नहीं लौटा तो घर वालों को चिंता हुई। परिजन उसका खोजबीन करने लगे। शुक्रवार की शाम करीब चार बजे जब पोखर पर लगी चौकी और अन्य चीज लोग हटाने लगें तो पोखर के कुम्भी में कोई चीज फंसी नजर आई। लोगों ने जब कुम्भी हटाया। तो दस वर्षीय लखिन्द्र का शव पानी मे तैरता नजर आया। लोगों ने शव निकाल किनारे रखा। जब लखिन्द्र के परिजन को उसके डूब कर मर जाने की खबर का पता चला तो उनके ऊपर मुसीबत का पहाड़ टूट पड़ा। रो-रोकर परिजनों का बुरा हाल है।

Post A Comment: