ढाका 23 नवम्बर को ग्रामीणों द्वारा किया जाएगा चक्का जाम 


ढाका (पु.च.) से शिव कुमार की रिपोर्ट

सिकरहना | ढाका स्थित बैरगनिया से पचपकड़ी मोर में, नाला के पानी का बहाव से ढाका सिटी में  स्थिति काफी दयनीय है। आलम यह है कि गांव से भी यहां बदतर स्थिति है।  
बिन बरसात ढाका सिटी में हमेशा जलजमाव की स्थिति बनी रहती है। वार्ड के लोगों ने पिछले एक दशकसे जिन नेताओं पर भरोसा किया उन्होंने सिर्फ सपने दिखाए पर काम नहीं किया।


ढाका में जल-निकासी नहीं होने के कारण लोगों का जीना मुहाल हो गया।  मच्छर व दुर्गंध से लोग परेशान है। आने जाने वाले हर वयक्ति को नाले के पानी से होकर जाना आना पड़ता है। यहां बड़ी समस्या पानी निकासी की है। नाला निर्माण नहीं होने से सड़क व मोहल्ले के आसपास गढ्डों में पानी जमा हो रहा है जो बीमारियों का जरिया है।
मोहब्बतपुर वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष समिमुदिन के तरफ से SDO साहब को जारी किए गए आवेदन पत्र को भी एक सफ्ताह हो गए, लेकिन समस्या का कोई हल नही निकला,
आज इसी विषय पर मोहब्बतपुर वेलफेयर सोसाइटी की एक बैठक बुलाई गई थी जिसमें सबके सर्व सहमति से ये निर्णय लिया गया कि 23 नवम्बर को 10 टेलर राबिस गिरा कर सड़क जाम किया जाए, तब कहि जाकर अंधी, बहरी, लाचार, सरकार तक बात पहुचेगी तो  समस्या का हल निलेगा।आज की बैठक में उपस्थित समिमुदिन(अध्यक्ष)आतिफ़ अशर (महासचिव)रागिब एकबाल (कोषाध्यक्ष)साजिद अनवर, (सचिव)तारिक अनवर,अशरफ जमाल,नूर आलम,आदि मेम्बर थे!

Post A Comment: