जिला सीधी मे हुआ छात्रवृत्ति घोटाला..न्यायालय ने सुनाया तीन आरोपियों को 5-5 वर्ष का कठोर कारावास - सहित 2 करोड़ 20 लाख रूपये का अर्थदण्ड 



ब्यूरो रिपोर्ट अमित कुमार मिश्रा 




 सीधी मे हुए छात्रवृत्ति घोटाले में मा. न्यायालय ने तीन आरोपियों को 5 -5 वर्ष के कठोर कारावास की सजा सुनाई गई है , इसके साथ ही आरोपियों को 2 करोड़ 20 लाख रूपये के अर्थदण्ड से भी दण्डित किया गया है , 
मामले में कुल 8 आरोपी थे ,  जिन्हे सजा सुनाई गई  उनमें - सरस्वती कॉलेज के संचालक अवनीश कुमार सहित आदिवासी विभाग के कर्मचारी राजेश कुमार एवं महेन्द्र यादव शामिल हैं , 
 
••  घोटाले के पूरे प्रकरणों के तथ्य एवं परिस्थितियों के विवेचना उपरांत विशेष न्यायाधीश एके पालीवाल द्वारा अहम फैसला सुनाते हुये..
•  आरोपी अवनीश कुमार शुक्ला उर्फ लाला पिता शिवनरेश 41 वर्ष निवासी झगरी थाना रामपुर नैकिन को धारा 420एवं 120 बी भादस के अपराध में 5 वर्ष का कठोर कारावास एवं 2 करोड़ रूपये के अर्थदण्ड से दण्डित किया गया है , अर्थदण्ड की राशि न अदा करने पर डेढ़ वर्ष का अतिरिक्त कठोर कारावास भुगतना पड़ेगा , 
  • वहीं आरोपी राजेश कुमार पाण्डेय पिता रामलाल 50 वर्ष निलंबित लिपिक ग्रेड.2 निवासी डैनिहा को धारा 420 एवं 120 भादस के अपराध में 5 वर्ष का कठोर कारावास एवं दस लाख का अर्थदण्ड ...
  • एवं महेन्द्र यादव पिता पन्नालाल 32 वर्ष निवासी गोड़बहरा थाना सरई को धारा 420 एवं 120 भादसं के तहत पांच वर्ष का कठोर कारावास एवं दस लाख के अर्थदण्ड की सजा सुनाई गई है।

Post A Comment: