समस्तीपुर:ब्रजेश /पंकज की रिपोर्ट ,बिथान  :- समस्तीपुर जिले के बिथान में पुसहो पंचायत में दो
दिन दौरा के क्रम में भूमिहिन मुसहर एवं दुसाध समुदाय के बीच कल्याणकारी एवं विकास योजना से रुबरू होने के दौरान भाकपा माले नेता सह इनौस जिला अध्यक्ष सुरेंद्र प्रसाद सिंह, मिथिलेश कुमार एवं दिनेश पासवान ने जब भूमिहिन से उक्त पंचायत में ही करीब दो एकड जमीन कब्जा कर 125 लोगों में वितरण कर झोपडी बनाने पर प्रतिक्रिया जानना चाहा तो चौकाने वाला जबाब मिला। तेतरी देवी ने कहा “सब कहई छई कि बाहर शौच जाय पर राशन -किरासन- आवास बंद हो जतई हमरा सबके बसे ला जमीन न हई, इहे ला बगल के सरकारी जमीन पर कब्जा कर लेलियई”।सुगीया देवी का मकान करीब 8 धूर में है। तीन बेटे हैं, एक की शादी हो गई है। घर के आभाव में वह परदेश में रहता है। गिटीया देवी के झोपरीनुमा मकान में बकरी बंधा है।सड़क किनारे खटिया पडा है। रात में भी इसी पर वह सोती है। एक भी घर में शौचालय नहीं है। कुछ महिलाओं ने बताया कि वे समूह खेलती हैं। समूह से शौचालय के लिए लोन लेने को कहा गया लेकिन जमीन के कागजात हीं नहीं है। बस्ती के बच्चे स्कूल अवधी में भी खेलते देखे गये।
टीम नेता सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि आजादी के 70 वर्ष बाद भी ये बस्ती विकास की रौशनी से कोशों दूर है।इसका मुख्य कारण है शिक्षा। हालांकि यह पंचायत राजनीतिक तौर पर बडा मजबूत है। दर्जनभर से अधिक कई पार्टी के बडे़ नेता हुए जो जिला से लेकर राज्य स्तर पर मजबूत पहचान बनाने में कामयाब रहे। लेकिन चिराग तले अंधेरा वाली कहावत शत प्रतिशत यहाँ सही साबित होती है। मुख्य सड़क के बगल में सीमा पर करीब 2 एकड़ जमीन पर 125 झोपडी, बाँस- बल्ला, पन्नी आदि टांगकर कब्जा जमाया गया है। इसमें बकरी, मवेशी आदि भी दिखा। पूछने पर महिलाओं ने बताया कि वे कई बार भाकपा माले नेता सुशील कुमार, राजेंद्र प्रसाद सिंहा आदि के नेतृत्व में पर्चा के लिए अंचलाधिकारी को आवेदन दी गई पर कोई कारबाई नहीं हुई इसलिए वे लोग जबरदस्ती कब्जा जमा लिए। उन्होंने कहा कि जान दे देंगे लेकिन जमीन खाली नहीं करेंगे। बहरहाल पंचायत में टकराब का आसार बना हुआ है। माले नेता सुरेन्द्र ने कहा कि वास्तव में भूमिहिन को बिना भूमि दिए ओ.डी.एफ का नारा बेमानी है और यही हाल संपूर्ण जिला का है।

Post A Comment: