कृष्ण कुमार संजय :
    केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा है कि आरक्षण से किसी को भयभीत होने की जरूरत नहीं है। आरक्षण से किसी का हक नहीं मारा जाएगा। केंद्र की मोदी सरकार सबका साथ-सबका विकास की नीति पर काम कर रही है।जीपीओ में आयोजित भारतीय रेल डाक एवं मेल मोटर सेवा कर्मचारी संघ के द्विवार्षिक अधिवेशन में केंद्रीय मंत्री ने आउटसोर्सिंग की नौकरियों में आरक्षण का विरोध करने वाले भाजपा सांसद डॉ. सीपी ठाकुर द्वारा दिए गए बयान को उनका निजी बयान बताया। कहा कि राज्य सरकार ने अगर आउटसोर्सिंग में आरक्षण देने का निर्णय लिया है तो कुछ सोच-समझकर ही लिया होगा। वैसे तो यह मामला केंद्र का नहीं, राज्य का है।लेकिन इससे किसी को डरने की जरूरत नहीं है। डाककर्मियों की मांग पर कहा कि वे केंद्रीय मंत्री से बातकर जायज मांगों को पूरा करवाने की कोशिश करेंगे। केंद्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री रामकृपाल यादव ने कहा कि डाककर्मियों की समस्याएं छोटी-छोटी हैं जिनका निराकरण होगा। बाद में पत्रकारों से बातचीत में राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद पर तंज कसा कि ज्योतिष के जानकार को पार्टी में लाने से कुछ नहीं होगा। लालू प्रसाद का परिवार भ्रष्टाचार व बेनामी संपत्ति के मामले में फंसा है। तंत्र-मंत्र से बचाव होता तो आज सारे भ्रष्ट कांग्रेसी जेल नहीं जाते। लेकिन लालू प्रसाद मानसिक रूप से परेशान होने के कारण ऐसी हरकते कर रहे हैं। सांसद डॉ. सीपी ठाकुर ने कहा कि संचार सेवा आधुनिक हुई है। लेकिन इसमें भी डाककर्मियों की भागीदारी अहम हो सकती है। विधायक जीवेश मिश्र ने भी विचार रखा। सर्किल सचिव राम निरंजन सिंह ने हावड़ा रेस्ट हाउस की जर्जर स्थिति को सही करने, पटना आरएमएस कार्यालय को बनाए रखने, समयोपरिभत्ता 100 रुपए प्रति घंटा करने सहित 14 मांगें रखी। अधिवेशन में कोषाध्यक्ष शिव शंकर रजक, महासचिव संतोष कुमार सिंह सहित अन्य कर्मचारी नेता मौजूद थे।

Post A Comment: