मोतीहारी, ढाका जमुआ कांड में पुलिस के हाथ खाली


सूद-ब्याज का व्यवसाय, घटना का कारण तो नहीं

सभी बिंदुओं पर पुलिस कर रही है सूक्ष्म जांच

मोतीहारी / सिकरहना /सुजीत कुमार चंद्रवंशी 

ढाका थाना के जमुआ गांव में अली अख्तर के जघन्य हत्याकांड में पुलिस अब तक हाथ खाली है. घटना के बाद गांव में मातम पसरा हुआ है. चाय पान की दुकानों पर ग्रामीणों द्वारा घटना की अपने-अपने हिसाब से विश्लेषण किया जा रहा है. हत्या के कारणों पर कई तरह से कयास लगाये जा रहे हैं.  गांव के लोगों का कहना है कि दूध व्यवसाय से मृतक की अच्छी कमाई होती थी. वही सूद ब्याज पर पैसों का लेनदेन भी करता था. मृतक घर में अकेला रहता था तथा उसका दरवाजा हमेशा खुला ही रहता था. ग्रामीणों के अनुसार मृतक अपने साथ मोटी रकम भी रखता था. कहीं पैसों के लालच में किसी ने इस घटना को अंजाम तो नहीं दिया? इधर ढाका पुलिस कई बिंदुओं पर जांच कर रही है. घटना की सूचना पर पर पत्नी, बेटी तो आयी लेकिन बेटा का गायब रहना लोगों को हजम नहीं हो रहा. वैसे मृतक का अपने परिजनों से मधुर संबंध नहीं रहता था. हत्या के कारणों का खुलासा तो पुलिस अनुसंधान से ही हो पायेगा.  थानाध्यक्ष राकेश कुमार ने बताया कि मामले में अनुसंधान जारी है

Post A Comment: