कुलदीप वर्मा एवं सुनील वर्मा की रिपोर्ट :पानीपत के लघुसचिवालय में ग्रेवेन्सीज की मासिक बैठक का आयोजन किया गया ,बैठक में करीब 14 समस्या राखी गयी ,जिनका मुख्यातिथि स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के नही पहुचने पर जिला उपायुक्त ने 6 का मोके पर समाधान किया गया ओर दो शिकायत का अधिकारियों ने पहले ही समाधान कर दिया था। बाकी शिकायतों का जल्द अधिकारियों को निपटाने के निर्देश दिए। आज की कष्ट निवारण समिति की अध्यक्षता कर रहे उपायुक्त पानीपत ने बताया की स्वास्थय मंत्री जो जिला कष्ट निवारण समिति के चेयरमैन है लगातार दो मीटिंगों में इसलिए शामिलहोने में असमर्थ रहे क्योंकि पहली मीटिंग के समय उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं था और आज किसी आकस्मिक काम होने की वजह से मीटिंग में नहीं पहुँच सके उनके मीटिंग में नहीं पहुँचने की वजह से जिले का कोई भी विधायक जिला कष्ट निवारण समिति की बैठक में नहीं पहुंचा। 

 जिला कष्ट निवारण समिति की बैठक में ज्यादातर समस्या पंचायती राज की सामने आयी लेकिन लगातार दो मीटिंगों में स्वास्थ्य मंत्री के नहीं पहुँचने के कारण और आज की बैठक में जिले के किसी विधायक द्वारा भी शामिल ना होने के कारन शिकायत देने के लिए लोगो का उत्साह  भी कम नजर आया। बैठक में सत्ताधारी बीजेपी  की तरफ से करनाल लोकसभा निगरानी समिति के अध्यक्ष गजेंद्र सलूजा उपस्थित रहे। गजेंद्र सलूजा ने  कहा की सरकार अपने काम में तेजी से काम कर रही है जनता को जल्द न्याय मिल रहा है।उन्होंने कहा कि मुख्य शिकायतों को ही इस मीटिंग में रखा जाता है ताकि जिन लोगो को कहि न्याय नही मिलता उनको न्याय मिल सके।उनसे पूछे जाने पर की शिकायत तो ज्यादा आती है तो उन्होंने कहा कि समय के अनुसार अहम केसों को ही इस मीटिंग रखा जाता है। बैठक के दौरान कष्ट निवारण समिति के मेंबर सतपाल मतलौडा ने सीएम विंडो से संबंधित शिकायत उपायुक्त के सामने रखी की विंडो पर दी गई अधिकतर शिकायतों का अधिकारी बैठे बैठे बिना शिकायतकर्ता की सुने समाधान कर दफ्तर दाखिल कर देते है इस पर गौर किया जाए अन्यथा इस सिस्टम को बंद कर दिया जाये। इस अवसर पर जिला के सम्बंधित अधिकारी मौके पर मौजूद रहे।

Post A Comment: