समस्तीपुर:ब्रजेश / पंकज की रिपोर्ट :- खानपुर में छात्रा से गैंगरेप के बाद हत्या के खिलाफ आज बुधवार को । विदित हो की छात्रा द्वारा 22 सितंबर को एस.डी.ओ कोर्ट में छेड़खानी का मामला दर्ज कराने के बाबजूद पुलिस की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई थी जिसके बाद आरोपियों ने खानपुर के सिवैसिंगपुर की किशोरी प्रमिला के साथ रेप कर हत्या कर दी। छात्रा की हत्या से आक्रोशित आइसा संगठन से जुड़े छात्रों ने आज बी.आर.बी कालेज कैंपस से जुलूस निकालकर परिसर समेत बगल के मुख्य सडकों से गुजरते हुए काॅलेज गेट पहुँचकर एक सभा का आयोजन किया।इस सभा की अध्यक्षता काॅलेज इकाई अध्यक्ष मनीष राय तथा जिला अध्यक्ष सुनील कुमार ने किया। मौके पर मनीष यादव, आकाश राजपूत, कुमार साहेब, राहुल कुमार, अंकित कुमार, अभिषेक कुमार,पंकज कुमार, विकाश कुमार, मो० चाँद,विवेक कुमार, आशिष देव, अमरजीत कुमार समेत अन्य दर्जनों नेताओं ने सभा को संबोधित करते हुए जिला पुलिस प्रशासन तथा कथित सुशासन की सरकार का जमकर आलोचना की। वक्ताओं ने कहा कि ताजपुर, पटोरी, कल्याणपुर, खानपुर, उजियारपुर समेत संपूर्ण जिला में छात्रा एवं बेटियों पर हमले बढ़े हैं।सत्ता के ईशारे पर आरोपियों को संरक्षण दिया जाता है।इन आरोपियों से जनप्रतिनिधियों का संबंध जगजाहिर है। इसलिए प्रशासन भी इनपर हाथ डालने से बचती है।छात्र नेताओं ने कहा कि सांसद रामचंद्र पासवान, नित्यानंद राय, एम.एल.ए आलोक मेहता या अन्य ये सभी बाहर से मात्र पद हथियाने आते हैं। बहन- बेटियों पर हो रहे जुल्म से इन्हें कोई लेना- देना नहीं है। बहन- बेटी, माँ-बाप खून के आंसू रो रहे हैं और ये पटना, दिल्ली में मजे मार रहे हैं।ऐसी स्थिति में जनता को गोलबंद होकर लोकतान्त्रिक आंदोलन ही एक मात्र रास्ता बचा है और छात्र संगठन आइसा इसे जान पर खेलकर भी आगे बढाने को बाध्य है। अंत में मुख्यमंत्री का पूतला फूंका गया। मौके पर छात्रों के हाथों में नारे लिखे कार्डबोर्ड लोगों को बार बार आकर्षित कर रहे थे। नेताओं ने घोषणा किया कि अगर जल्द तमाम आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल नहीं भेजा गया तो आंदोलन तेज किया जाएगा। नेताओं ने आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि जिला मुख्यालय से मात्र 15 कि० मी० की दूरी पर खानपुर तक एस.डी.ओ का आदेश पहुँचने में 41 दिन लगा। इसकी भी जाँच कर कार्रवाई होनी चाहिए।

Post A Comment: