ओडीएफ ग्राम अलिया बुल बुल में जिलाधिकारी ने लगाई चैपाल
सफाई अभियान का लिया जायज़ा 
 शुभम शंकर मिश्र  :
 
 
बहराइच के ग्रामीण क्षेत्रों में साफ-सफाई के लिए जनजागरूकता लाये जाने के उद्देश्य से संचालित सफाई व्यवस्था के 25वें चरण का जायज़ा लेने के लिए जिलाधिकारी अजय दीप सिंह ने खुले में शौच की प्रथा से मुक्त ग्राम पंचायत अलिया बुल बुल का भ्रमण किया। जिलाधिकारी ने पूरे ग्राम का भ्रमण कर गाॅव की साफ-सफाई, स्वच्छ शौचालयों की स्थिति का जायज़ा लिया तत्पश्चात विद्यालय परिसर में चैपाल आयोजित कर विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं का ग्रामवासियों के समक्ष सत्यापन भी किया। चैपाल की विशेषता यह रही कि माताओं के साथ उपस्थित बच्चों को जिलाधिकारी ने फल व बिस्किट का वितरण किया, चैपाल में मौजूद माताओं की गोद के स्वस्थ बच्चों तथा स्वच्छता कार्यक्रम में उल्लेखनीय सहयोग के लिए बुद्धराम व खिताब अली को माला पहनाकर सम्मानित किया। इस अवसर पर विद्यालय के बच्चों की ओर से शौचालय एवं बालिका शिक्षा के महत्व पर लघु नाटिका भी प्रस्तुत की गयी। 
चैपाल में मौजूद ग्रामवासियों को सम्बोधित करते हुए मुख्य विकास अधिकारी राकेश कुमार ने स्वच्छता के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि स्वच्छता के लिए शौचालय अत्यन्त महत्वपूर्ण है। शौचालय न होने से तमाम तरह की बीमारियाॅ पैदा होती हंै जिससे लोगों की मेहनत की कमाई का अधिकतर भाग इलाज पर व्यय हो जाता है। श्री कुमार ने कहा कि साक्षरता कम होने के कारण भी लोग स्वच्छता के महत्व को नहीं समझ पाते हंै। उन्होंने लोगों से अपील की कि सभी बच्चों को शिक्षा अवश्य दिलायें। बालिका शिक्षा के महत्व पर प्रकाश डालते हुए श्री कुमार ने कहा कि एक बालिका के शिक्षित होने से एक पूरा कुटुम्ब शिक्षित हो जाता है इसलिए बालिकाओं को अनिवार्य रूप से शिक्षा दिलायी जाय।
चैपाल में मौजूद लोगों ने बताया कि ग्राम के कोटेदार मकबूल द्वारा सार्वजनिक वितरण प्रणाली अन्तर्गत शासन की मंशानुरूप वितरण किया जा रहा है। इस स्थिति पर जिलाधिकारी ने प्रसन्नता व्यक्त की और माला पहनाकर कोटेदार की हौसला अफज़ाई करते हुए कहा कि इसी प्रकार कार्य करते रहंे। 
 सीडीओ श्री कुमार ने सचेत किया कि शौचालय न बनवाने वाले लोगों को दूसरी सरकारी योजनाओं के लाभ से भी वंचित करने का प्रयास किया जायेगा। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा संचालित फसली ऋण मोचन योजना अन्तर्गत लघु एवं सीमान्त किसानों का ऋण माफ किया जा रहा है। इससे लाखों किसान लाभान्वित हुए हैं। श्री कुमार ने बताया कि भारत संरकार द्वारा संचालित प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत प्रथमबार गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य की देख-भाल के लिए रू. 5000=00 प्रदान किया जायेगा। 
जनपद में संचालित किये जा रहे स्वच्छता अभियान के लाभों का उल्लेख करते हुए सीडीओ श्री कुमार ने कहा कि मच्छर जनित संक्रामक रोगियों की संख्या में गुणात्मक कमी आयी है। इसका अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है कि जहाॅ गत वर्ष रोगियों की संख्या लगभग 280 थी वहीं इस वर्ष रोगियों की संख्या घट कर 10 रह गयी है। श्री कुमार ने आमजन से अपील कि अभियान में सक्रिय सहयोग प्रदान करें ताकि स्वच्छ जनपद के रूप में बहराइच की पहचान बन सके। 
चैपाल के दौरान उप जिलाधिकारी सदर एस.पी. शुल्क ने ग्राम की सार्वजनिक भूमि पर अवैध कब्ज़ों के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की। लोगों ने बताया कि ग्राम में इस प्रकार की कोई समस्या नहीं है। इस अवसर पर उन्होंने मुख्यमंत्री सर्वहित बीमा योजना व आम आदमी बीमा योजना की पात्रता इत्यादि के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान की। अति.मजिस्ट्रेट/प्रभारी प्रोबेशन अधिकारी संतोष कुमार उपाध्याय ने बताया कि निराश्रित विधवा पेंशन योजना के लिए आनलाइन आवेदन की सुविधा उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थी के पास आधार होना आवश्यक है। उन्होंने बताया कि नये आवेदनों का निस्तारण 15 दिवस में करा दिया जायेगा।  
उप कृषि निदेशक डा. आर.के. सिंह, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. बलवन्त सिंह, डी.सी. मनरेगा वीरेन्द्र सिंह, डीपीएम राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन डा. आर.बी. यादव, जिला पूर्ति अधिकारी राकेश कुमार, जिला कार्यक्रम अधिकारी सुनील कुमार श्रीवास्तव, जिला पंचायत राज अधिकारी राजेन्द्र प्रकाश, जिला दिव्यांग जन अधिकारी अशोक कुमार गौतम व खण्ड शिक्षा अधिकारी चित्तौरा सहित अन्य अधिकारियों ने विभागीय योजनाओं की पात्रता, प्राप्त होने वाले लाभों, आवेदन के तौर-तरीकों इत्यादि के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान की। इस अवसर पर परियोजना निदेशक अभिमन्यु सिंह, डीएसटीओ/प्रभारी बीडीओ चित्तौरा एसके बघेल, ग्राम प्रधान उस्मान अली सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी व ग्रामवासी मौजूद रहे।

Post A Comment: