चलती ट्रेन में सेल्फी लेना दुर्घटना को दावत देना जैसा

मो० इम्तियाज़ आलम रिपोर्टर बोकारो

बोकारो स्टेशन पर रेलवे सुरक्षा बल व केंद्रीय रेलवे रेल यात्री संघ ने संयुक्त रूप से यात्री सुरक्षा जागरूकता अभियान चलाया। केंद्रीय रेलवे रेल यात्री संघ के धर्म संयोजक सह पीएमओ सलाहकार नमामि गंगे जटाशंकर जी ने यात्रियों को ट्रेन में होने वाली आपराधिक घटनाओं से अवगत कराते हुए आरपीएफ के हेल्प लाइन 182 के बारे में विस्तार से बताया।उन्होंने कहा कि ट्रेन में कभी भी किसी भी अंजान व्यक्ति का दिया कोई खाद्य पदार्थ न खाएं, चाय, पानी, बिस्कुट व किसी भी तरह का कोई प्रसाद भी न लें। बिना टिकट यात्रा करना दंडनीय अपराध है अगर किसी कारण वश टिकट नहीं ले पाए तो ट्रेन में टीटी के पास जाकर टिकट बनवा लें। आजकल युवाओं में बहुत तेजी से सेल्फी का क्रेज बढ़ा है, लेकिन चलती ट्रेन में सेल्फी के प्रयास से अभी हाल ही में कई घटनाएं हो चुकीं हैं। चलती ट्रेन में सेल्फी लेना दुर्घटना को दावत देने जैसा है। चलती ट्रेन के दरवाजे के पर खड़े होकर यात्रा न करें।
आरपीएफ द्वारा जारी निश्शुल्क हेल्प लाइन 182 का महत्व समझाते हुए कहा कि ट्रेन में किसी भी यात्री के साथ अगर किसी प्रकार की दुर्घटना हुई हो तो तुरंत इस नंबर पर फोन कर जानकारी दे सकते हैं। कुछ ही समय में आपके पास आरपीएफ की सहायता पहुंच जाएगी। चलती ट्रेन में किसी भी प्रकार की परेशानी व किसी पर किसी तरह का संदेह होने पर हेल्पलाइन नंबर फोन कर मदद मांगी जा सकती है। शंकर जी ने बताया कि संस्था के द्वारा निश्शुल्क और निस्वार्थ रेल यात्री जागरूकता अभियान पूरे भारत में चलाया जा रहा है।
इस मौके पर आरपीएफ ओसी संजीव कुमार सिन्हा, इंस्पेक्टर कुमार राजीव, सीआइबी इंस्पेक्टर एलबी यादव, बीके ¨सह, दिलीप कुमार झा, रामा कुमार, निर्मल कुमार व अर्चना कुमारी सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

Post A Comment: