रंजीत सिंह, सीटी रिपोर्टर सुलतानपुर
 कूरेभार थाना क्षेत्र में एक बार फिर खाकी का तांडव देखने को मिला। जहा सरकार आये दिन पुलिस को जनता की हिफाजत के लिये मुस्तैद कर रखा है। वही जनता के लिए कही जाने वाली मित्र पुलिस अपने कार्य व्यव्हार में जरा भी सुधार लेने को तैयार नही है। जिसका खामियाजा आये दिन ग्रामीण भुगतने को विवश हो रहे है। उदाहरण के तौर पर कूरेभार के कोरौ तिराहे पर पुलिसिया तांडव खुलेआम देखने को मिला है। यही नही स्थानीय पुलिस अपनी कार्य गुजरियो पर पर्दा डालने के लिये समाचार संकलन कर रहे एक अखबार के पत्रकार को भी नही बख्सा और उसे हिरासत में लेकर थाने की हवा खिला दिया। जिसके कारण पूरे क्षेत्र में कूरेभार पुलिस की कार्यशैली चर्चा का विषय बन गयी है।

                   मामला थाना क्षेत्र कूरेभार के सेमरौना गांव के समीप बीती रात धनपतगंज से सब्जी बेच कर घर जा रहे भगवान दीन पुत्र हैवत पासी निवासी सेमरौना को क्षेत्र के कुछ दबंगो ने शराब के नशे में धुत होकर अपशब्दों का प्रयोग करते हुये जमकर मारपीट कर हजारो रूपये नगदी व मोबाईल फोन छीन कर फरार हो गये। घटना के दौरान पीड़ित भगवान दीन ने एक बदमाश को पहचान भी लिया और घटना की सूचना 100 डायल पुलिस को दिया। तब मौके पर पहुची पुलिस आरोपी के घर जा धमकी तो आरोपी घर पर नही मिला। जिसके कारण स्थानीय पुलिस ने पीड़ित को सुबह थाने आकर तहरीर देने की बात कहकर वापस कर दिया। जिसका नतीजा यह हुआ कि सुबह थाने पर पीड़ित द्वारा तहरीर देने के साथ ही घटना से आक्रोशित होकर ग्रामीण कूरेभार से धनपतगंज मार्ग पर स्थित सम्पर्क मार्ग सेमरौना से कोरौ मार्ग पर इकट्ठा होने लगे जिसकी सूचना धनपतगंज चौकी पुलिस ने कूरेभार थाने पर मार्ग जाम करने की सूचना दी। जिसपर कूरेभार थाने की पुलिस ने मौके पर पहुचकर हल्का बल प्रयोग कर ग्रामीणों की भीड़ को खदेड़ दिया। इसके साथ ही कुछ ग्रामीणों को हिरासत में ले लिया। यही नही इस मामले के दौरान कूरेभार पुलिस ने एक हिंदी दैनिक अख़बार के पत्रकार को भी पुलिस समाचार संकलन के दौरान अभद्रता करते हुये मोबाईल कैमरा व प्रेस कार्ड छीन कर हिरासत में लेकर थाने लेकर आयी। जब पत्रकार को हिरासत में लेने के मामला स्थानीय पत्रकारो को हुआ तो काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने पत्रकार को यह कहते हुये छोड़ा की भूल वश लेकर चले आये थे। जिसपर पीड़ित पत्रकार ने पुलिस अधीक्षक सहित मुख्यमंत्री, डीजीपी, भारतीय प्रेस परिषद व गृह मंत्री को शिकायती पत्र देकर थानाध्यक्ष कूरेभार के खिलाफ कार्रवाई की मांग किया है। इस दौरान कूरेभार थानाध्यक्ष धनंजय पाण्डेय का कहना है कि कोई छिनौती की घटना नही हुयी है। पीड़ित ने अपने गांव के ही पट्टीदार सुरेश गिरी पुत्र राम सूरत सहित कुछ अज्ञात के विरूद्ध तहरीर दिया है। फिलहाल इस प्रकरण की गम्भीरता से जांच की जा रही है। वही पत्रकार को हिरासत में लेने के मामले में कहा कि भूल वश ले आये थे ग्रामीणों की भीड़ में पहचान नही पाने की बात कही है।

Post A Comment: