पानीपत/सुनील वर्मा
प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के थिराना आसन कला रोड़ पर स्थित ज्ञान मानसरोवर में दादी जानकी जी की उपस्थिति में पानीपत सर्कल की 10 बीके बहनों का समर्पण समारोह मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ दीपप्रज्जवलन से हुआ, कार्यक्रम में कृष्ण लाल पंवार , राज्य परिवहन एवं आवास मंत्री भी पहुँचे। साथ ही माउंट आबू से बी के करुणा, बी के मोहन सिंगल और पंजाब जोन के प्रभारी बी के अमीरचंद भी शामिल हुए।
दादी जी ने अपने आशीर्वचन में सुनाया कि जीवन श्रेष्ठ वही जो प्रभु के नाम समर्पित हो जाये। दादी जी ने आगे कहा कि विश्व कल्याण के लिए इन कन्याओं ने जो अपना सर्वस्व आज समर्पित किया है इससे महान कार्य और कुछ नही हो सकता।
समर्पित होने वाली बहनों के प्रति दादी जी ने कहा कि सदा ट्रस्टी होकर रहना। हमारा कुछ भी नही सब उस् परमात्मा पिता का है यह बात सदा याद रहे, मेरा मेरा कभी नही कहो, परमात्मा पिता को सत्य भी कहा जाता है, सच्चे दिल पर साहेब राजी रहता है, करन करावनहार वो शिव बाबा है। दिल, दिमाग और दृष्टि तीन चीज मुख्य हैं, दिल और दिमाग मे परमात्मा को बसाओ और दृष्टि में पवित्रता रखो
कृष्ण लाल पंवार, मंत्री ने कहा कि अपने लिए तो सभी जीते हैं लेकिन इन बहनों ने मानव समाज के कल्याण हेतु आज जो अपना जीवन समर्पित किया है यह अति सराहनीय कार्य है।
उन्होंने कहा कि ब्रह्माकुमारीज संस्था एक विश्व व्यापी संस्था है जो शांत्ति स्थापना के कार्य में बहुत महत्वपूर्ण योगदान दे रही है। मंच पर पहुँचने पर दादी जी व अन्य अतिथियों का अंजू बहन व सुनीता बहन ने फूलों व गुलदस्तों से स्वागत किया गया।
बी के करुणा चीफ ऑफ मल्टीमीडिया ने बोलते हुए कहा कि किसी से रिस नही करो, पूरी दुनिया मे कोई भी 2 जने एक जैसे नही मिलेंगे, कुछ न कुछ भाव स्वभाव में अंतर मिलेगा, क्योकि इस दुनिया मे सब आत्माएं एक्टर के समान हैं और सभी का रोल अलग अलग है।
बी के मोहन सिंगल ने कहा कि मुझे खुशी होती ये देखकर कि आज के मॉडर्न युग मे भी ये बहने दुनिया की चकाचौंध को छोड़ आध्यामिकता में अपनी रुचि रखे हुए हैं। बी के अमीर चंद ने कहा सब को सुख दो और सुखी रहो, दुवाएं लेते रहो व देते रहो और सबके प्रति शुभकामना रखते चलो बस यही सुख शांति प्राप्त करने का मूलमंत्र है।
कैम्पस के निदेशक बी के भारत भूषण ने सभी मेहमानो का शब्दों के माध्यम से आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा अगर हम अपने समय व शक्ति को मानव की भलाई के कार्य मे लगाएं तो हमारा जीवन आनन्द से भरपूर हो सकता है।
ब्रह्माकुमारी सर्कल इंचार्ज सरला बहन जी ने भी अपने आशीर्वचन रखे। बी के विवेक, माउंट आबू ने मंच संचालन किया। कुमारी पर्ल ने स्वागत नृत्य प्रस्तुत किया।।।
आज जो बहनें संस्था में समर्पित हुई
1. बी के सुमन बहन (सिवाह गांव से)
2. बी के मोनिका (सिवाह गांव)
3. बी के सोनिया (हथवाला गांव से)
4. बी के मोनिका (गोला गांव से)
5. बी के स्वाति (सौदापुर गांव से)
6. बी के दीपा (रमेश नगर , तहसील कैम्प)
7. बी के पूनम बहन ( बाबैल गांव से )
8. बी के रेशमा बहन (पानीपत मॉडल टाउन से)
9. बी के रितिका ( उरलाना गांव )
10. बी के दिव्या बहन, (मतलौडा से)
विशेष –
कार्यक्रम में समर्पित होने वाली सभी बहनों ने सुनहरे पीले रंग की चुन्नी ओढ़ रखी थी, बहनों ने पूरी सभा के बीच मे ही ब्रह्माकुमारीज की धारणाओं को जीवन मे अपनाने का प्रतिज्ञा पत्र भी पढा
साथ मे उनके माता पिता ने खुद अपनी कन्या का हाथ दादी जी के हाथों में सौंप दिया। फिर दादी जी ने परमात्मा पिता के प्रतीक चिन्ह वाली अगूंठी सभी बहनों को पहनाई।

Post A Comment: