शुभम शंकर मिश्र 

सत्ता पर साधा निशाना भड़की संतोष कुमारी रस्तोगी
गरीब के लिए उठाया आवाज (कु0संतोष कुमारी रस्तोगी 
 प्रत्याशी नगरपालिका अध्यक्ष)

ये हमारे शहर  बहराइच  की दोनो पैरों से विकलांग महिला ।
जमीन में घिसट कर चल पाती हैं।
पति रिक्शा चालक ।
बच्चे छोटे हैं।
अभी हाल ही मे इनका  कच्चा मकान पूरी तरह गिर कर ध्वस्त हो गया ।इस हालात में तमाम सत्ता वालों के ईर्द गिर्द चक्कर लगा चुकी 
पर सत्ता की रंगीनियाँ और ग्लैमर की चमक दमक भला इन गरीबो के  अमावस की काली रातों पर कभी पडी है क्या? 

सत्ता का सिर्फ और सिर्फ भरपूर  स्वाद चखने वाले इनके आगे वोट के लिए हाथ जोड़े 
लानत है ऐसी सत्ता पर.......मुझे फक्र है अपनी उस गरीबी से जिसे पैसों से गरीब कहते हैं।
और परमसंतोष और खुशी है उस अमीरी से जिसे दिल से अमीर कहते हैं।
कतई नही चाहिए हमें ऐसी अमीरी जो जनता से दूरी बना दे।
हमने लगातार पिछले 4-5 सालो से सडको पर उतर कर भ्रष्टाचार के खिलाफ खूब लडाई लडी है , भ्रष्टाचारियो को नाको चने चबवाये हैं।उ0प्र0 में सत्ता पर काबिज भ्रष्टाचारियो से लगातार लोहा लिया है।
 अपनी मौलिकता ना ही हमने खोयी है और न ही कभी खोयेंगे।
जमीन से जुड़े रहकर जिलेवासियो के लिए जीना और उन्ही के लिए मरना है ।
चुनाव हारूँ या जीतूं कोई फर्क नही ।
अगर जीत होती है तो वो जिलेवासियो के सच्चे लोकतंत्र की जीत होगी और अगर हार होगी तो जिलेवासियों का दुर्भाग्य ।
बाकी फैसला आपका।

हम कल भी आंदोलनरत थें औरआगे भी जिलेवासियो के हक में वैसे ही पूरी ईमानदारी से आंदोलनरत रहेंगे।

Post A Comment: