बिहार ब्यूरो :
सिमरिया धाम भगदड़ मामले में दोषियों पर गाज गिरनी शुरू हो गयी। एसपी आदित्य कुमार ने ड्यूटी में लापरवाही के आरोप में दो थानाध्यक्ष, एक दारोगा, एक जमादार व 3 महिला सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया। वहीं, होमगार्ड के 11 जवानों को छह माह के लिए ड्यूटी से वंचित करने का आदेश दिया। डीएम स्तर से दो मजिस्ट्रेट व निलंबित दारोगा रूबीकांत कच्छप के खिलाफ अनुशासनिक कार्रवाई के लिए शोकॉज करते हुए 24 घंटे के अंदर जवाब मांगा गया है। निलंबन व शोकॉज की कार्रवाई से पुलिस महकमे व जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है। घटना की खबर सुन भागलपुर प्रक्षेत्र के आईजी सुशील मान सिंह खोपड़े व मुंगेर प्रक्षेत्र के डीआईजी विकास वैभव ने घटनास्थल का जायजा लेने के बाद जांच समीक्षा में दोषी पाये जाने पर कार्रवाई करने का निर्देश एसपी को दिया था।
भीड़ नियंत्रण कर्तव्यों का पालन नहीं करने व पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति में लापरवाही के आरोप में खोदावंदपुर की थानाध्यक्ष रूबीकांत कच्छप, सिमरिया धाम अस्थायी थानाध्यक्ष धीरेन्द्र कुमार पाठक व नवगछिया के जमादार गणेश कुमार सिंह सस्पेंड किये गए। वहीं, बीएमपी-10 पटना की महिला सिपाही रूबी कुमारी, पूजा कुमारी व कुमारी मोनिका को भी निलंबित किया गया। सस्पेंड जमादार के साथ ही मजिस्ट्रेट भगवानपुर मनरेगा के जेई दिलीप पासवान व अरविंद कुमार सिंह व रूबीकांत कच्छप के खिलाफ डीएम मो. नौशाद युसूफ ने अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए शोकॉज की मांग करते हुए 24 घंटे में जवाब देने को कहा है।
जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन ने दावा किया है कि सिमरिया धाम में शनिवार की सुबह 6.30-7 बजे सुबह के बीच तीन महिलाओं की मौत दम घुटने से ही हुई थी। बेगूसराय के सच्चिदानंद सिंह, सुरेश सिंह, रामाधार सिंह-एक, रामाधार सिंह-दो, चंद्रभूषण सिंह, ब्रजेश कुमार सिंह, इंद्रदेव मिश्र, रामानुज महतो, दयाकांत महतो, सुनील पांडेय व सुरेश यादव। नालंदा जिले के सुंदर बिगहा निवासी कृष्णा प्रसाद की 70 वर्षीया पत्नी कंचन देवी, सीतामढ़ी के माधोपुर निवासी स्व. योगेन्द्र मिश्र की 75 वर्षीया पत्नी त्रिवेणी देवी व दरभंगा के टेंगराही निवासी मंटून मंडल की 75 वर्षीया पत्नी सतनी देवी की मौत हो गयी थी।

Post A Comment: