पयागपुर से अजित यादव  की रिपोर्ट :बहराइच जिले के ग्रामीण अंचलों में कार्तिक पूर्णिमा पर लगे मेले  | कटका हुजूरपुर जहाँ पर श्रधालुओं ने सन्त की समाधि पर प्रसाद चढ़ाये जहाँ पर हर मंगलवार को भी मेले लगते है    झूला घाट का मेला गँगवल के समीप टेढ़ी नदी के तट पर लगता है जहाँ पर श्रध्दालु नदी में स्नान करके प्रसाद चढ़ाते है  नया घाट का  मेला पयागपुर के समीप फूल मती माता मन्दिर  जो बघेल झील के तट पर है ।जहाँ पर बंगाल विभाजन के समय आये हुऐ बंगाली समुदाय को सरकार ने उसी झील से रहने व घर बनाने के लिये आवंटित किया गया था , प्रेमी दास कुट्टी का मेला भी लगा जहाँ पर भी ग्रामीण उल्लास के साथ मेला देखने आयॆ   प्रशासन की तरफ़ से सभी जगह मेले में व्वस्था देखने को मिली |
 ऐसा माना जाता कि किसान इस मेले के बाद से ही गेंहू की बुआई शुरू होती है      

Post A Comment: