बहराइच :12 महिलाओं को नारी सम्मान से नवाजा गया 


पयागपुर से अजित कुमार यादव की रिपोर्ट :





बहराइच 06 दिसम्बर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की  प्रेरणा से उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा प्रदेश स्तर पर 04 से 10 दिसम्बर तक आयोजित किये जा रहे नारी सुरक्षा सप्ताह अन्तर्गत इन्दिरा स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम की मुख्य अतिथि . राज्यमंत्री (स्वतन्त्र प्रभार) बेसिक शिक्षा, बाल विकास एवं पुष्टाहार, राजस्व एवं वित्त (एम.ओ.एस.) अनुपमा जायसवाल ने विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली जनपद की 12 महिलाओं को ‘‘नारी रत्न सम्मान’’ से सम्मानित किया।

इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए श्रीमती जायसवाल ने कहा कि नारी एक जीवन में बेटी, बहन, पत्नी और माॅ जैसे रिश्तों को एक साथ जीती है। इतने पवित्र रिश्तों को एक साथ जीने के बावजूद आज नारी सुरक्षा सप्ताह मनाने की आवश्यकता इस बात को दर्शाती है कि समाज की सोच में परिवर्तन लाने की आवश्यकता है। आज समाज में कन्या भ्रूण हत्या जैसा जघन्य अपराध हो रहा है। इसके विरूद्ध पूरे समाज को साथ खड़े होने की आवश्यकता है। 

श्रीमती जायसवाल ने कही  कि प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री का सपना है कि नारी सशक्तिकरण के माध्यम से उन्हें हर क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाया जाय। उन्होंने कहा कि आज समाज के सभी क्षेत्रों में नारी पुरूषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कदम-ताल करती नज़र आ रही है। सेना के जंगी जहाज़ हो या आंतरिक्षयान हर जगह पर महिलाओं ने अपनी सशक्त उपस्थिति दर्ज करायी है। उन्होंने कहा कि प्रायः ऐसे क्षेत्र जो कभी मात्र पुरूषों के लिए आरक्षित हुआ करते वहाॅ पर महिलाएं मज़बूती के साथ दस्तक दे रही हैं। 

 राज्य मंत्री ने कहा कि आज केन्द्र व राज्य सरकार की ओर से नारी सशक्तिकरण के लिए अनेकों योजनाएं संचालित की जा रही है। आज समाज में हर ओर बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ नारे का शोर है। प्रदेश सरकार यह भी चाहती है कि महिलाएं निर्भीक होकर अपना जीवन जिये इसके लिए महिला हेल्पलाइन 181, वूमन पावर लाइन 1090, एंटी रोमियो स्क्वायड का गठन किया गया है साथ पुलिस विभाग द्वारा संचालित ऐप के माध्यम से भी महिलाएं अपनी शिकायत दर्ज करा सकती हैं।

अपने सम्बोधन में उन्होंने आमजन से अपील की कि कन्या भ्रूण हत्या को रोकने समाज से लैंगिग भेदभाव के खात्मे के लिए आगे आयें। इस अवसर पर उन्होंने नारी रत्न सम्मान प्राप्त करने वाली महिलाओं को बधाई देते हुए कहा कि यह सम्मान दूसरी अन्य महिलाओं को भी प्रेरित करेंगा।

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक जुगुल किशोर ने नारी सुरक्षा सप्ताह के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए बताया कि सभी विद्यालयों व थानों में शिकायत पेटिका स्थापित की जायेंगी। जिसमें कोई भी महिला अथवा बालिका अपनी शिकायत लिख कर डाल सकती हैं। शिकायतकर्ता की पहचान को गोपनीय रखा जायेगा। उन्होंने यह भी बताया कि नारी सुरक्षा सप्ताह के दौरान महिलाओं को विभिन्न माध्यमों से तकनीकी जानकारी भी उपलब्ध करायी जायेगी।

 मंत्री श्रीमती अनुपमा जायसवाल ने मूक बधिर विद्यालय की संचालक डा. बलमीत कौर, पुलिस मार्डन स्कूल की प्रधानाचार्या निशा सिंह, हाकी खिलाड़ी रजनी कश्यप, स्वयं सेवी संस्था की संचालिका कुरैशा बेगम, महिला हेल्पलाइन की वन्दना अवस्थी, शालिनी सिंह, रचना कटियार, महिला लेखपाल स्नेहलता व शैलजा सिंह, कलेक्ट्रेट कर्मी अनुपाल, रोटी बैंक की सरिता चैधरी, महिला महाविद्यालय की प्राचार्या डा. मोहिनी गोयल को नारी रत्न सम्मान प्रदान किया। 

कस्तूरबा गाॅधी आवासीय बालिका विद्यालय कैसरगंज की छात्राओं ने स्वागतगीत प्रस्तुत किया। जबकि कार्यक्रम का संचालन शिक्षक संतोष सिंह ने किया। जिलाधिकारी अजय दीप सिंह व पुलिस अधीक्षक ने मा. मंत्री को स्मृति चिन्ह भी भेंट किया। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान के गायन से हुआ। 

इस अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक नगर अजय प्रताप, अतिरिक्त मजिस्ट्रेट डा. संतोष उपाध्याय, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. ए.के. पाण्डेय, डीआईओएस राजेन्द्र कुमार पाण्डेय, बीएसए डा. अमरकान्त सिंह, सीओ सिटी अतुल कुमार यादव व रिसिया की श्रेष्ठा सिंह, सरएमएस महिला डा. रंजना टण्डन, डिप्टी सीएमओ डा. योगिता जैन, डीपीएम एनएचएम डा. आर.बी. यादव सहित अन्य अधिकारी, जिला को-आपरेटिव बैंक के अध्यक्ष जितेन्द्र प्रताप सिंह, पुरूषोत्तम जायसवाल, शुभम जायसवाल व अन्य गणमान्यजन, महिलाएं, शिक्षिकाएं-छात्राएं काफी संख्या में मौजूद रहे।

Post A Comment: