पी न्यूज़ डेक्स 
हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा की बड़ी जीत के बावजूद पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल और प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती को मिली हार ने पार्टी को झटका दिया है। जबकि सत्ताधारी कांग्रेस को मिली करारी शिकस्त के बाद भी मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह अपनी सीट बचाने में कामयाब रहे। 
83 वर्षीय वीरभद्र सिंह ने अर्की विधानसभा सीट पर भाजपा उम्मीदवार रत्तन सिंह पाल को करीब 6,000 वोटों से हराया जबकि भाजपा के सीएम उम्मीदवार धूमल (73) को सुजानपुर सीट पर हार का सामना करना पड़ा। सुजानपुर सीट से कांग्रेस उम्मीदवार राजिंदर राणा ने धूमल को करीब 3,000 वोटों से पराजित किया।
मुख्यमंत्री वीरभद्र के बेटे और पहली बार चुनाव लड़ रहे विक्रमादित्य सिंह (28) ने शिमला ग्रामीण विधानसभा सीट पर करीब 5,000 वोटों से जीत दर्ज की। विक्रमादित्य ने भाजपा उम्मीदवार प्रमोद शर्मा को शिकस्त दी।
वीरभद्र सिंह सरकार में सबसे वरिष्ठ मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता कौल सिंह ठाकुर को दरंग सीट पर भाजपा के जवाहर ठाकुर ने करीब 6,500 वोटों से हराया जबकि कैबिनेट मंत्री प्रकाश चौधरी को बल्ह सीट पर भाजपा उम्मीदवार इंदर सिंह गांधी ने करीब 13,000 वोटों से पराजित किया।प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती को ऊना सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार सतपाल सिंह रायजादा के हाथों हार का सामना करना पड़ा। रायजादा ने सत्ती को करीब 3,000 वोटों से हराया। धर्मशाला में भाजपा के किशन कपूर ने शहरी विकास मंत्री एवं कांग्रेस उम्मीदवार सुधीर शर्मा को करीब 3,000 वोटों से शिकस्त दी। कुल्लू विधानसभा सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार सुदर सिंह ठाकुर ने भाजपा के वरिष्ठ नेता महेश्वर सिंह को करीब 1500 वोटों से मात दी। भरमौर सीट पर भाजपा के जिया लाल ने वीरभद्र सरकार में वन मंत्री ठाकुर सिंह भरमौरी को 7,349 वोटों से हराया।
डेहरा से निर्दलीय उम्मीदवार होशियार सिंह ने भाजपा और कांग्रेस के दिग्गज नेताओं - रविंदर रवि और विप्लव ठाकुर - को बड़े अंतर से हराया। हिमाचल प्रदेश सरकार में मंत्री धनी राम शांडिल ने सोलन विधानसभा सीट पर अपने दामाद और भाजपा उम्मीदवार राजेश कश्यप को 671 वोटों से मात दी।
हिमाचल चुनाव 2017जीतेआगेकुल
भाजपा440044
कांग्रेस210021
बसपा00000
लोकहित00000
अन्य03003

Post A Comment: