सुलतानपुर

जनपद में पूर्व प्रधानमंत्री स्व. चैधरी चरण सिंह का जन्मदिवस किसान सम्मान दिवस के रूप में मनाया गया। 
कृषि, उद्यान , पशुपालन तथा मत्स्य विकास के क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति करने वाले 30 किसानों का सम्मान। 
अरुण साहू के साथ अनिल निषाद की रिपोर्ट :

पूर्व प्रधानमंत्री चैधरी  स्व. चरण सिंह का जन्मदिवस आज यहां पं. रामनरेश त्रिपाठी सभागार में किसान सम्मान दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर कृषि , उद्यान, पशुपालन तथा मत्स्य विकास के क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति करने वाले 30 किसानों को प्रशस्ति पत्र तथा माल्र्यापण कर सम्मानित किया गया। 
किसान सम्मान दिवस समारोह के मुख्य अतिथि विधायक सुलतानपुर सूर्यभान सिंह तथा अध्यक्षता कर रहे जिलाधिकारी हरेन्द्रवीर सिंह व विशिष्ट अतिथि के रूप में मुख्य विकास अधिकारी रामयज्ञ मिश्र ने सर्वप्रथम पूर्व प्रधानमंत्री चैधरी चरण सिंह के चित्र पर माल्र्यापण किया, तद्उपरान्त कृषि में 08,  पशुपालन में 06 , उद्यान में 08 तथा मत्स्य विकास के क्षेत्र में 08 इस प्रकार उल्लेखनीय कार्य करने वाले 30 किसानों को प्रशस्ति पत्र व माल्र्यापण कर सम्मानित किया गया। 
किसान सम्मान समारोह को सम्बोधित करते हुये विधायक सुलतानपुर सूर्यभान सिंह ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्व. चैधरी चरण सिंह किसानों  के प्रति समर्पित थे तथा उन्होंने किसानों की खुशहाली के लिये अनके कल्याणकारी योजनायें संचालित की। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार किसानों के उत्थान के लिये कटिबद्ध है तथा उनके विकास के लिये अनेक कल्याणकारी योजनायें संचालित की है। जिले के किसानों को योजनाओं की जानकारी देने के लिये जनपद में ब्लाक स्तर से लेकर जिला स्तर तक किसान मेले का आयोजन किया गया। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने किसानों को बीज तथा कृषि उपकरणों का अनुदान उनके खाते में भेज रही है, जिससे बिचैलिया प्रथा समाप्त हो गयी है। उन्होंने कहा कि हमारे प्रदेश में गेहूं की रिकार्ड खरीद हुई है। वर्तमान समय में किसानों के धान की खरीद की जा रही है। उन्होंने बताया कि वर्तमान सरकार द्वारा किसानों का ऋण माफ करके एक बहुत बड़ा पुनीत कार्य किया गया है, जिससे किसान भाईयों में खुशहाली आयी है। उन्होंने कहा कि जनपद के चीनी मिल की क्षमता को बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। इस सम्बन्ध में गन्ना मंत्री से भी वार्ता हो चुकी है। उन्होंने समारोह में सम्मानित किसान भाईयों को बधाई दी।
समारोह की अध्यक्षता करते हुये जिलाधिकारी हरेन्द्र वीर सिंह ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्व. चैधरी चरण सिंह की छवि किसान नेता के रूप में है। वर्तमान सरकार ने उनके जन्म दिवस को किसान सम्मान दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि हमारा देश कृषि प्रधान देश है। आज हम खाद्यान्न के क्षेत्र में आत्मनिर्भर हैं तथा दूसरे देशों को निर्यात भी कर रहे हैं। इसके लिये हमारे किसान भाई बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि सरकार का संकल्प है कि 2022 तक किसानों की आय दोगुनी की जाय। इस दिशा में केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के लिये अनेक कल्याणकारी योजनायें संचालित की गयी है। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में धान की खरीद चल रही है। वर्तमान में 20 हजार मी.टन धान की खरीद हुई है, जो इस अवधि में गतवर्ष से लगभग तीन गुना अधिक है। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि फरवरी के अन्त तक जनपद में धान खरीद का लक्ष्य पूर्ण करते हुये किसानों को उनके धान के मूल्य का भुगतान करा दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि किसानों की समस्याओं का निराकरण हेतु प्रति माह तीसरे बुधवार को किसान दिवस का आयोजन किया जाता है। पिछले किसान दिवस में किसानों द्वारा उठायी गयी लगभग 99 प्रतिशत समस्याओं का समाधान करा दिया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद के अधिकारी शासन की मंशानुसार किसानों के कल्याण के लिये संचालित योजनाओं का क्रियान्वयन कर रहे हैं। उन्होंने किसान भाईयों को बधाई दी। 
समारोह को विशिष्ट अतिथि के रूप में संबोधित करते हुये मुख्य विकास अधिकारी रामयज्ञ मिश्र ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्व. चैधरी चरण सिंह के जीवन का लक्ष्य किसानों का आर्थिक उत्थान था। उन्होंने कहा कि वे देश के किसानों के उत्थान के लिये सतत् प्रयत्नशील रहे। वर्तमान सरकार ने भी नारा दिया है कि किसानों की आय को बढ़ाया जाय। वर्तमान सरकार ने सभी क्षेत्रों में पादर्शिता के साथ योजनाओं का संचालन कर रही है। उन्होंने सभी अधिकारियों का आवाहन् किया कि वे सरकार की योजनाओं का व्यापक प्रचार प्रसार करें, जिससे किसान भाई योजनाओं का लाभ उठा सकें। 
इस अवसर पर उपनिदेशक कृषि शैलेन्द्र शाही ने कृषि विभाग की विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी दी तथा कहा कि किसान सम्मान समारोह में सर्वोच्च उत्पादन प्राप्त करने वाले किसानों को पुरस्कृत किया जा रहा है। 
इस अवसर पर मुख्य पशुचिकित्साधिकारी डाॅ. अजीत सिंह , जिला उद्यान अधिकारी मीना देवी, सहायक निदेशक मत्स्य ए.के. गुप्ता, जिला गन्ना अधिकारी अशर्फीलाल, जिला सूचना अधिकारी आर.बी.सिंह , किसान नेता गांधी सिंह तथा भोला सिंह आदि उपस्थित रहे। 
किसान सम्मान समारोह में कूरेभार के किसान अनुपम सिंह को गेहूं उत्पादन में प्रथम तथा जयसिंहपुर की मंजूलता को द्वितीय पुरस्कार प्रदान किया गया। इसी प्रकार मसूर उत्पादन में भदैंया के जितेन्द्र बहादुर सिंह को प्रथम, दूबेपुर की कांती देवी को द्वितीय पुरस्कार प्रदान किया गया। सरसों उत्पादन में दूबेपुर के राम तीरथ मिश्रा को प्रथम तथा बल्दीराय के विपिन कुमार को द्वितीय पुरस्कार एवं धान में भदैंया के राकेश कुमार पाठक को प्रथम तथा लम्भुआ के राज कुमार को द्वितीय पुरस्कार प्रदान किया गया। इसी प्रकार उद्यान के अन्तर्गत कैलाश कुमार, तेज बहादुर सिंह , भईया राम यादव, जगन्नाथ यादव, रामसुरेश , रमापति वर्मा, अर्जुन पाल सिंह व राम नरेश मौर्य को सम्मानित किया गया। पशुपालन के क्षेत्र में वीर विक्रम सिंह, उषा वर्मा, निर्मला देवी, राम प्रताप पाण्डेय, अमरावती, वीरेन्द्र प्रसाद पुरस्कृत किये गये। मत्स्य पालन में हरि शंकर वर्मा, जगदीश , खुशीपाल, रामजीत सिंह , विनोद कुमार सिंह , रामतीरथ यादव , भानुमति व दिग्विजय सिंह को पुरस्कृत किया गया। समारोह का संचालन कृषि रक्षा अधिकारी अरूण कुमार त्रिपाठी ने किया। 

Post A Comment: