सुल्तानपुर पी न्यूज़ से अरुण साहू की रिपोर्ट |


थाना क्षेत्र के पूरे गुरुदत्त तिवारी मजरे पारा गनापुर गांव में बीती रात विपक्षियों ने एक परिवार पर सोती रात बस समय हमला उस वक्त जब घर के कुछ लोग भोजन के बाद घर के बाहर रोज की भांति अपने-अपने बिस्तर में लेट गये थे।उसी वक्त गाँव के ही कुछ लोग लाठी-डंडा,लोहे की रॉड व धारदार हथियार लेकर बाहर बिस्तर में लेटे राम तीर्थ तिवारी व राम मिलन तिवारी पर हमला बोल दिया।इनकी चीखपुकार पर परिवार के विद्याप्रसाद तिवारी उम्र (41)वर्ष पुत्र राम मिलन,ऊषा देवी(34)वर्ष पत्नी अंबिका प्रसाद,लकी(12)पुत्र विद्याप्रसाद, विभा तिवारी(38)पत्नी विद्याप्रसाद, राम मिलन तिवारी(70)पुत्र रघुनन्दन तिवारी,मृदुल तिवारी(11)पुत्र अंबिका प्रसाद,राजदेई(68) पत्नी राममिलन,आशा देवी(40)पत्नी आद्द्या प्रसाद,राम तीर्थ(60)पुत्र रघुनन्दन,वरुण तिवारी(17)पुत्र लालता प्रसाद तिवारी, गोलू(15)पुत्र आद्द्या प्रसाद को मारकर गंभीर रूप से घायल कर हमलावर फरार हो गये।आरोप यह है कि गांव के दुर्गेश मिश्रा, अनिल मिश्रा,अवधेश मिश्रा पुत्रगण रामराज मिश्रा व रामराज मिश्रा पुत्र राम प्रसाद मिश्र से जमीनी विवाद वर्षो से चला आ रहा है।1दिसम्बर को विवादित स्थल पर विपक्षी दुर्गेश आदि ने मकान निर्माण कार्य शुरू किया तो विद्याप्रसाद ने पुलिस की मदद से निर्माण कार्य रुकवा दिया।तब से दोनों परिवार के लोगो मे दुश्मनी बढ़ती गयी।बीती रात सहायक अध्यापक विद्या प्रसाद तिवारी के परिवार पर हमला बोल दिया जिसमे 11 लोग गम्भीर रूप से घायल हो गये।सूचना पर पहुची पुलिस ने घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बल्दीराय पहुँचाया,जहाँ डॉक्टरों ने 7 लोगों को जिला अस्पताल रिफर कर दिया।जिसमें सहायक अध्यापक विद्याप्रसाद तिवारी व मृतक के छोटे भाई अंबिका प्रसाद की पत्नी ऊषा देवी की रास्ते में मौत हो गयी।



बलदीराय/सुल्तानपुर-
पूरे गुरुदत्त तिवारी गांव बाग की जमीन में पूरा गांव बसा हुआ है।जिसपर मृतक विद्या प्रसाद के परिवारीजन पूरे गांव पर न्यायालय से वर्षो पूर्व स्थगनादेश ले रखा है।इनका मानना है कि बाग का सरकारी बंटवारा हो।
         मृतक के भतीजी अंकित तिवारी ने बताया कि दुर्गेश मिश्र के घर का दरवाजा उत्तर दिशा को है।लगभग 3 वर्ष पूर्व दुर्गेश अपने घर की बाहरी दीवार बनाने लगे तो दक्षिण दिशा को अपना नया दरवाजा खोल दिया।यही से दोनों परिवार के बीच विवाद की शुरुआत हुई।
            अंकित ने बताया कि मैं परिवारीजनों के साथ घर के बाहर सो रहा था।दुर्गेश मिश्र, अनिल मिश्र,अवधेश मिश्र व अपने पिता राजा राम के साथ लाठी डंडे,लोहे का रॉड व धारदार हथियार से लैश होकर पहुँचे,और पहुँचते ही मारना शुरू कर दिया।चीखपुकार सुनकर परिवार के अन्य लोग जैसे घर से भर निकले तो पूरे परिवार के सदस्यों को मारकर मरणासन कर दिया।
           मृतक विद्याप्रसाद तिवारी पूर्व माध्यमिक विद्यालय हलियापुर में सहायक अध्यापक के पद पर कार्यरत थे।मृतक अध्यापक के दो बच्चे है।जिनका नाम लकी(12) वर्ष व स्वतंत्र(8)वर्ष के है।जिसमे हमलावरों ने बड़े लड़के लकी को भी मार कर घायल कर दिया।जिसके इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है।यही नहीं पत्नी विभा तिवारी भी गम्भीर रूप से घायल है।मृतक सहायक अध्यापक के छोटे भाई अम्बिका प्रसाद तिवारी की पत्नी ऊषा तिवारी की भी मौत हुई है।मृतिका ऊषा देवी के मृदुल (11)वर्ष व चंचल (6)के बच्चे हैं।जिसमे मृदुल भी है 

विभा तिवारी ने जताई थी अपने परिजनों के ऊपर हत्या की आशंका*
बलदीराय/सुलतानपुर
घटना की तीन दिन पूर्व मृतक विद्याप्रसाद की विभा तिवारी ने उत्तर प्रदेश अपराध निरोधक समिति के राष्ट्रीय सचिव अमर बहादुर को व्हाट्सएप करके हत्या की आशंका जताई थी।बताते है कि विभा तिवारी बल्दीराय कस्बे में स्थिति एक निजी स्कूल में शिक्षण कार्य करती है तथा उत्तर प्रदेश अपराध निरोधक समिति की पदाधिकारी भी है।

घटना स्थल पर पहुचे पुलिस अधीक्षक

बलदीराय/सुल्तानपुर-
घटना की सूचना पर घटना स्थल पर पहुचे पुलिस अधीक्षक,घटना स्थल का जायजा लिया, और उन्होंने कहा कि घटना को अंजाम देने वालो के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जायेगी।और अपराधियों के विरुद्ध NSA लगाया जायेगा।उन्होंने परिवारीजनों को ढांढस बधाते हुए कहा कहा कि सभी गम्भीर रूप से घायलों को जिला अस्पताल से लखनऊ इलाज के लिए भेजवा दिया गया है।कप्तान ने बीट के लापरवाही के आरोप में दरोगा अशोक कुमार सिंह व सिपाही अजय सोनकर को लाइन हाजिर कर दिया।
            ग्राम सभा पारा गनापुर के पूरे गुरु दत्त तिवारी में एक ही परिवार पर हुए प्राणघातक हमले में घायल दो लोगो की मृत्यु की खबर से पूरे  क्षेत्र में सनसनी फैल गयी।एकाएक किसी को विस्वास नही हो रहा था कि इतनी बड़ी घटना घटित हो चुकी है

Post A Comment: