सुलतानपुर से रिपोर्ट :-
शासन के निर्देशानुसार आज कमला नेहरू कृषि विज्ञान केन्द्र सुलतानपुर में विश्व मृदा स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। विधायक सुलतानपुर सूर्यभान सिंह ने गोष्ठी का उद्घाटन किया तथा मुख्य विकास अधिकारी रामयज्ञ मिश्र ने गोष्ठी की अध्यक्षता की। 
गोष्ठी को सम्बोधित करते हुये विधायक सूर्यभान सिंह ने कहा कि केन्द्र तथा प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के उत्थान के लिये अनेक कल्याणकारी योजनायें संचालित की है। किसान भाई शासन की योजनाओं का लाभ उठायें तथा आधुनिक तकनीकी का प्रयोग कर कृषि उत्पादन में वृद्धि करें। उन्होंने मृदा परीक्षण पर विशेष बल देते हुये कहा कि मृदा परीक्षण से भूमि में उपलब्ध पोषक तत्वों की जानकारी मिलती है तथा उपलब्ध तत्वों के आधार पर बोई जाने वाली फसलों के लिये उर्वरकों का निर्धारण करने में सहूलियत मिलती है। उन्होंने किसान भाईयों को सलाह दी कि वे अपने खेत की मिट्टी का मृदा परीक्षण अवश्य करायें, जिससे उनके खेतों की उर्वराशक्ति बनी रहे और कृषि उत्पादन में वृद्धि हो सके। 
इस अवसर गोष्ठी की अध्यक्षता करते हुये मुख्य विकास अधिकारी रामयज्ञ मिश्र ने केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी दी तथा कहा कि किसान भाई शासन की योजनाओं का लाभ उठाकर अपना आर्थिक उत्थान करें । उन्होंने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, साॅयल हेल्थ कार्ड स्कीम के बारे में किसानों को जानकारी दी। उन्होंने किसानों का आवाहन् किया कि वे अपने खेत की मिट्टी का प्रति दूसरे वर्ष अवश्य परीक्षण करायें। उन्होंने कहा कि मिट्टी की उर्वरता बनाये रखने के लिये सदैव जैविक खाद का अधिक से अधिक प्रयोग करें तथा अपने खेत में कम से कम रासायनिक उर्वरकों एवं फसल सुरक्षा रसायनों का प्रयोग करें। उन्होंने एक ही तरह की फसल न उगाकर फसल चक्र में दलहनी फसलों को शामिल करने का सुझाव दिया। 
विश्व मृदा स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर विधायक सूर्यभान सिंह तथा मुख्य विकास अधिकारीे रामयज्ञ ने मिश्र 120 किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड का वितरण किया। 
गोष्ठी को कमला नेहरू कृषि विज्ञान केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक डाॅ.एम.बी.सिंह ने किसानों को कृषि तकनीकी के बारे जानकारी दी। इस अवसर पर उपनिदेशक कृषि शैलेन्द्र कुमार शाही ने विश्व मृदा स्वास्थ्य दिवस पर अपने विचार व्यक्त किये।
 

Post A Comment: