सुंदर पंडालों पर दुष्टों की नजर /कानून और समाजिक सम्मान के साथ खिलवाड़
जन्दाहा से मुकेश कुमार रॉय की रिपोर्ट :
 एक अजीबोगरीब स्थिति शरारती तत्वों ने उत्पन्न कर दी ,बताया गया की जन्दाहा थाना के  डीह बुचौली के राम प्रवेश साहनी के पुत्री की   शादी की तैयारी पूर्ण होकर बरात आगमन होने ही वाले थे  की किसी सरारती ने नवालिग़ होने की खावर प्रशासन को दे दिया  जिससे शादी समारोह की तैयारी में चार घंटों का व्यवधान उत्पन्न हो गया  ।सरकार के संकल्पों में एक बाल विवाह की खबर मिलते समूचे प्रशासनिक महकमा में अफरा तफरी मच गया और  प्रशासन के लोगों ने आननफानन में समाजसेवीयों से शादी रोकवाने के प्रयास में जूट गया ।इधर लोगों की लम्बी तैदाद और प्रशासनिक पदाधिकारियों की मौजूदगी देखकर कन्या पक्ष अचंभित होने लगें ।जानकारी प्राप्त होते कन्या पक्ष के लोगों ने स्कूल सर्टिफिकेट, आधार कार्ड और घोषणा पत्र मौके पर पहुंचे अंचलाधिकारी योगेंद्र सिंह को सुपूर्द कर अपनी पुत्री को बालिग़ होने की साबुत दिखाकर सूचना देने वाले की जानकारी माँगी ।ग्रामीणों के आक्रोश को पदाधिकारी और समाजसेवीयों ने शादी समारोह का हवाला देकर शांत कराया, लेकिन शरारती तत्वों का कृत शासन  -प्रशासन के लिए कई  चुनौती पूर्ण सवाल  खरा कर दिया ।
       आखिर क्या ये असमाजिक तत्वों का ये कारनामा सरकार के उद्देश्य को प्रभावित करने का षडयंत्र करते हुए कानून का मजाक नहीं है ? अब लोगो को कहना है की   चार-चार घंटे परेशान रहने वाली प्रशासन गलत सूचना देने वालों के विरुद्ध क्या कारवाई कर पाती हैं ?

Post A Comment: