सुनील वर्मा की रिपोर्ट :

पानीपत हैंडलूम व् टेक्सटाइल से जुड़े सेंकडो मजदुर कई  स्ट्राइक पर चल रहे है लेकिन उनकी मांगों का कोई समाधान नहीं निकल रहा हे और मजदूर अपना काम छोड़ पानीपत के लघु सचिवालय के पार्क में इकठ्ठा  सरकार प्रशाशन व् फैक्ट्री मालिकों के  खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने को मजबूर हैं मजदूरों की मांगे बेशिक स्तर की हैं लेकिन फैक्ट्री मालिकों की एसोसिएशन रजिस्टर्ड ना होने का हवाला देकर मजदूरों को प्रशासन सिर्फ आश्वासन देकर चलता कर देता हे परन्तु मजदूर अपनी मांगो को लेकर अडिग हैं।
   

 मजदूरों की मुख्य मांग न्यूनतम वेतन लागू करना या न्यूनतम वेतन के आधार पर पीस रेट तय किए जाएं वेतन बैंक के माध्यम से दिया जाए ,  हाजिरी रजिस्टर लगाए जाएँ , स्वच्छ पानी व् काम करने का हवादार माहौल उपलब्ध करवाया जाए।  मजदूरों ने अपनी मांगों के चलते कड़ा विरोध प्रदर्शन लघु सचिवालय में किया, मजदूरों का कहना है की हरियाणा सरकार ने कई  बार न्यूनतम वेतन में महंगाई भत्ता बढ़ाया है लेकिन उन्हें उसका लाभ नहीं दिया जाता , उनका कहना है कि श् 12 -12 घंटे काम करवाया जा रहा है, इसके बदले उन्हें न्यूनतम वेतन भी नहीं दिया जाता सुविधाएं तो दूर की बात है मजदूरों की मांग है की उनकी समस्याओं का समाधान जल्द किया जाये। 

Post A Comment: