आई.जी.आर.एस. पोर्टल पर प्राप्त तथा डिफाल्टर श्रेणी के सन्दर्भों को प्रत्येक दशा में दो दिवस में निस्तारण किया जाय-प्रभारी डी.एम.।
बैठक में अनुपस्थित रहने पर जल निगम तथा वन विभाग के अधिकारी का स्पष्टीकरण। 

अरुण साहू के साथ अनिल निषाद :
सुलतानपुर , प्रभारी जिलाधिकारी/मुख्य विकास अधिकारी रामयज्ञ मिश्र ने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि आई.जी.आर.एस. पोर्टल पर प्राप्त तथा डिफाल्टर श्रेणी के सन्दर्भों को प्रत्येक दशा में दो दिवस के अन्दर निस्तारण सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने बैठक में अनुपस्थित रहने पर जल निगम तथा वन विभाग के अधिकारी का स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिये। प्रभारी जिलाधिकारी आज कलेक्ट्रेट में आई.जी.आर.एस. पोर्टल पर प्राप्त मुख्यमंत्री सन्दर्भ, जिलाधिकारी सन्दर्भ तथा आॅनलाइन सन्दर्भों के निस्तारण की समीक्षा कर रहे थे। 
प्रभारी जिलाधिकारी ने समीक्षा में पाया कि आई.जी.आर.एस. पोर्टल पर लम्बित 207 सन्दर्भ डिफाल्टर श्रेणी में हैं। जिनमें आई.टी.आई, नेडा, विद्युत ,जिलाधिकारी सन्दर्भ में जिला कृषि अधिकारी, नेडा, विद्युत, नगर पालिका, एल.डी.एम. वन, जिला कृषि अधिकारी, जल निगम तथा विभिन्न तहसीलों के अधिक सन्दर्भ डिफाल्टर श्रेणी में हैं। उन्होंने इनसे सम्बन्धित सभी अधिकारियों को दो दिवस के अन्दर शिकायतों के गुणवत्तापूर्ण निस्तारण के निर्देश दिये। प्रभारी जिलाधिकारी ने समीक्षा में पाया कि शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण न होने पर कतिपय शिकायतें सी. श्रेणी में आ गयी हैं, जिनमें मुख्य चिकित्साधीक्षक जिला चिकित्सालय, विद्युत, डी.पी.आर.ओ. तथा नगर पालिका मुख्य हैं। प्रभारी जिलाधिकारी ने इन सभी अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण किया जाय तथा जो शिकायतें सी.श्रेणी में आ गयी हैं, उनकी पुनः रिर्पोट भेजी जाय। 
बैठक में मुख्य राजस्व अधिकारी राजकेश्वर, अपर जिलाधिकारी  (वि.रा.) अमरनाथ राय, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ.सी.वी.एन. त्रिपाठी, डी.डी.ओ. डाॅ.डी.आर. विश्वकर्मा, जिला सूचना अधिकारी आर.बी.सिंह, समस्त उपजिलाधिकारी व सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। 

Post A Comment: