नारी तू नारायणी उत्थान समिति द्वारा किए गए असहाय लोगों को कम्बल वितरीत।

पानीपत (सुनील वर्मा) : नारी तू नारायणी उत्थान समिति द्वारा मछरौली गाँव के भटटे पर मजदूरी करने वाले मजदूरों व राह चलते, गरीब व असहाय लोगों को कम्बल वितरित किए गए। नारी तू नारायणी उत्थान समिति की अधक्षय सविता आर्य ने कहा कि हम सभी जानते हैं कि एक इंसान के जीवन के लिए रोटी कपड़ा और मकान की कितनी अहमियत है ।हमारे जीवन मे इन तीनो का महत्व ही ज्यादा है ।लेकिन हर कोई इसे सरलता से प्राप्त नही कर पाते हैं ।आर्थिक असमर्थता के कारण ।हम सब को पता है कि ठंड ने दस्तक दे चुकी है ।दिसम्बर से जनवरी ठंड बढ़ना स्वाभविक है मानवता का यही धर्म है कि हम एक दूसरे की मदद करते रहे।इससे हम सब को एक अलग ही आत्म सन्तुष्टि प्राप्त होती है।मैं पिछले कई वर्षो से निरन्तर ग्रामीण क्षेत्रों एवं झुगी -बस्ती एवं उन जरूरतमंद लोगों में कम्बल व गर्म कपड़े अन्य जरूरत का समान वितरित करती रही हूं जिसकी जरूरत मन्द को जरूरत होती है । नर सेवा ही नारायण सेवा होती है। जरूरतमंद की मदद करना सच्ची सेवा है।ओर आज फिर गरीब व असहाय लोग ठंड में ना ठीठुरे इसके लिए नारी तू नारायणी उत्थान समिति द्वारा उन्हें कम्बल बाँटे गए है।आर्य ने बताया कि बड़ा दुःख होता है जब शर्दी के मौसम में किसी को ठंठ ठिठुरते हुए देखते हैं। हर तन को कपड़ा व हर पेट को खाना जब मिलना शुरू होगा तभी हमारा भारत श्रेष्ठ बनेगा। हर जागरूक भारतीय की ये जिम्मेदारी बनती है कि वो अपने सामर्थ्य अनुसार जरूरतमंद की मदद करें। ताकि हम एक मजबूत भारत के निर्माण में सहयोग दे सकें। समिति की संरक्षक शशि अग्रवाल ने बताया कि नारी तू नारायणी उत्थान समिति समय समय पर बेटियों के सम्मान, नारियों के उत्थान, छात्रों को छात्रवृत्ति, गऊ सेवा व जरूरतमंदों की मदद करती रही है। उन्होंने बताया कि समिति का प्रयास है कि एक अच्छे समाज के निर्माण में अपना सहयोग दें। आज उसी दिशा में मछरौली के बट्टे व रोड पर चलते जरूरत मन्द को कंबल बाँटे गए ताकि उनकी मदद की जा सके। इस अवसर पर नारी तू नारायणी उत्थान समिति की संरक्षक शशी अग्रवाल, सविता मदान, पुष्पा दुआ व आदेश कम्बोज आदि मौजूद रहे।

Post A Comment: