चंडीगढ़ - हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में ‘
हरियाणा इंटरप्राइज प्रमोशन बोर्ड’ ने आज यहां सात मेगा निवेश प्रस्तावों को मंजूरी दी, जिन्होंने उद्यम प्रोत्साहन नीति में मौजूद प्रावधान के तहत विशेष प्रोत्साहन पैकेज के लिए अनुरोध किया है। राज्य सरकार की इस मंजूरी के बाद प्रदेश में जहां कुल 1587 करोड़ रुपये का निवेश होगा वहीं करीब 2200 लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।
बैठक में बताया गया कि जिन सात कंपनियों नामत: पैनासोनिक इंडिया, एनरिच एग्रो, कंधारी बवरेजिज, स्टार वायर इंडिया लि., गुरूटेक इन्फ्रा अर्थ प्रा. लि., एटोटेक डेवलेपमेंट सेंटर प्रा. लि. और काप कोनस प्रा. लि., के मेगा निवेश के प्रस्तावों का मंजूरी प्रदान की गई है वे पंचकूला, पानीपत, रेवाड़ी, झज्जर, रोहतक, अंबाला, फरीदाबाद और गुरूग्राम जिलों में जल्द ही स्थापित होंगी। ये परियोजनाएं आर.एंड डी., खाद्य प्रसंस्करण, ई.एस.डी.एम, एयरोस्पेस और रक्षा क्षेत्र के लिए घटक विनिर्माण जैसे क्षेत्र में प्रस्तावित हैं।
विभिन्न निवेशकों को लाभ देने के लिए राज्य सरकार ने एक अनुकूलित पैकेज को स्वीकृत किया हुआ है। यह पैकेज एक बहुत ही उपयोगी उपकरण है जो राज्य के लिए कर लाभ का अनुमान लगाता है और एक निश्चित अनुपात, स्थान के आधार पर बाहर के निवेशकों के साथ सांझा किया जा सकता है।
बैठक में हरियाणा के शिक्षा मंत्री श्री राम बिलास शर्मा, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री ओम प्रकाश धनखड़, लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह, उद्योग मंत्री श्री विपुल गोयल, हरियाणा के मुख्य सचिव श्री डी.एस ढ़ेसी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर, उद्योग विभाग के प्रधान सचिव श्री सुधीर राजपाल व निदेशक श्री अशोक सांगवान तथा एचएसआईआईडीसी के प्रबंध निदेशक श्री राजशेखर वुंडरू तथा विदेशी निवेश एवं एनआरआई सैल के चेयरमैन श्री अश्विन जौहरके अलावा कई वरिष्ठï अधिकारी उपस्थित थे।

Post A Comment: