पी न्यूज़ डेक्स से राजेश कुमार मुन्ना की रिपोर्ट :
बेगूसराय जीडी कॉलेज के छात्रों ने कॉलेज प्रशासन को झुकने को मजबूर कर दिया। इंटर परीक्षा फॉर्म भरने में ज्यादा अवैध राशि वसूले जाने के विरोध के आगे कॉलेज प्रशासन को झुकना पड़ा। जीडी कॉलेज प्रशासन ने फीस में एससी-एसटी छात्र-छात्राओं को आठ सौ, छात्रा को छह सौ व सामान्य छात्र को एक सौ रुपए की रियायत देने की घोषणा की। पूर्व में परीक्षा फॉर्म भरने में छात्र-छात्राओं से दो हजार रुपए लिए जा रहे थे।जिससे छात्रों में भयानक आक्रोश देखने को मिला।जिन छात्रों से पहले ज्यादा राशि ली गई है उसे वापस किया जाएगा। इस घोषणा के बाद छात्रों में खुशी की लहर दौड़ गई। छात्रों ने आपस मे मिठाई खिलाकर खुशी का इजहार किया।जीडी कॉलेज में परीक्षा फॉर्म भरने के दौरान ज्यादा राशि वसूले जाने के विरोध में एआईएसएफ, एनएसयूआई, एबीवीपी व छात्र लोजपा संगठनों की ओर से दो दिनों से आंदोलन चल रहा था। दूसरे दिन बुधवार को भी ज्यादा फीस वसूले जाने के विरोध में इन छात्र संगठनों के बैनर तले छात्र कॉलेज प्रशासनिक भवन के समक्ष धरना पर बैठ गए।
इसके बाद प्रभारी प्राचार्य डॉ. शिवशंकर सिंह के साथ छात्र नेताओं की पहले दौर की वार्ता असफल घोषित हुई। हालांकि कुछ देर बाद ही उन्होंने छात्र नेताओं को फिर से वार्ता के लिए बुलाया। इस दौरान प्रभारी प्राचार्य ने फीस में कमी किए जाने की घोषणा की।यह छात्र संगठनों की है जीत।एनएसयूआई के अभिषेक कुमार, रवि कुमार, पवन कुमार, विवेक कुमार, विकास कुमार,एआईएसएफ के सजग सिंह, शंभू देवा ,सुजीत कुमारआदि ने कहा कि कॉलेज प्रशासन का यह निर्णय छात्र संगठनों की जीत है। छात्र संगठनों की बदौलत ही कॉलेज कैंपस में लोकतंत्र सुरक्षित है। एआईएसएफ के राकेश कुमार ने कहा कि कॉलेज प्रशासन की मनमानी के फैसले के विरुद्ध सभी छात्र संगठनों का एक साथ आना स्वागतयोग्य पहल है।मौके पर एबीवीपी के आशीष अंशु ने कहा कि लेखापाल की मनमानी के कारण यह स्थिति उत्पन्न हुई। मौके पर छात्र लोजपा के गौतम भारती, सज्जन राय, गौरव, शाहरूख खां, प्रिंस कुमार, अविनाश, मोहन, अभिगत शांडिल्य, नेहा, स्वाति,कोमल, एबीवीपी के अभिषेक राज आदि थे।
प्रभारी प्राचार्य डॉ. शिवशंकर सिंह ने बताया कि बिहार बोर्ड की ओर से एससी-एसटी छात्र-छात्राओं से परीक्षा फीस 275 रुपया कम लेने का निर्देश है। इसके अलावा उनसे नामांकन व अन्य शुल्क में कटौती कर दी गई। वहीं सामान्य छात्रा से सिर्फ परीक्षा फीस की वसूली की जा रही है। सामान्य छात्रों को भी अन्य शुल्कों में एक सौ रुपए की कटौती की गई है। आंदोलन के बाद फिर से संशोधित किया गया फीस इस प्रकार है:- 
जेनरल छात्र : 1,910 रुपए
जेनरल छात्रा : 1,400 रुपए
एससी, एसटी व बीसी-वन : 1,175 रुपए

Post A Comment: