मुजफ्फरपुर एस्सेल यूटिलिटी  ने बिना बिजली कनेक्शन के बिल भेजकर एस्सेल लूट रहा है करोड़ो रुपया।
विकाश कुमार की रिपोर्ट :
मीनापुर प्रखण्ड के बखरी गांव में संगीता देवी पति दिनेश यादव मजदूरी करके अपना दो वक्त का खाना पाते है।गरीबी का आलम ये है कि अगर एक दिन मजदूरी ना करे तो भोजन बंद हो जाये ।आज तक बिजली उनके घर मे नही लगा।उसके बावजूद  एस्सेल ने 7100 रुपये का बिल संगीता देवी के नाम से भेज दिया।बिल आने के बाद से संगीता देवी का पूरा परिवार न ही ठीक से खाना खाया ना ही सो पाया है।इतना ही नहीं बिल पर बजापते मीटर रीडिंग भी दिखला रहा हैं लुटेरा एस्सेल, जब बिजली कनेक्शन औऱ मीटर है ही नहीं तो रीडिंग कहाँ से आ गया।

पूरे बखरी गांव में बिजली ही नहीं गया है आजादी के बाद से अभी तक बखरी गांव के लोग तरस रहे बिजली के लिये, सैकड़ों बार एस्सलकर्मी को आवेदन दिया गया गांव में बिजली लाने के लिए लेकिन बिजली तो नहीं आई, बिना कनेक्शन बिल जरूर आ गया।मीनापुर प्रखण्ड के उपप्रमुख रंजन सिंह ने बताया इस गाँव मे बिजली लाने के लिये एस्सेल अधिकारियों से कई बार बात हुई लेकिन बिजली नही आया अब तो फ़ोन रिसीव करना भी नहीं चाहता है  एस्सेल के अधिकारी।
 एस्सेल ने तो चोरी के साथ साथ करता है सीनाजोरी।

उतना ही नहीं  एस्सेल कि सीनाजोरी तो देखिये  एस्सलकर्मी तकादा करने भी पहुँच जाते है सभी बात बताने के बाद भी केस करने कि धमकी देकर गलत (रंगवाजी)पैसा वसूलना चाहता है।

बिना कनेक्शन बिल भेजे जाने के संबंध में मीनापुर उपप्रमुख रंजन सिंह ने बताया एस्सेल अपने रवैया में सुधार नहीं लाया तो बिल लेकर हाईकोर्ट जायेंगे और आंदोलन करेंगे।

एस्सेल भगाओ मुज़फ़्फ़रपुर बचाओ मोर्चा के अध्यक्ष एवं सामाजिक कार्यकर्ता अजय पांडेय ने बताया कि ईस्ट इंडिया कंपनी को जो नहीं देख पाये थे वो एस्सेल के रूप में देख सकते है लुटेरा एस्सेल मुज़फ़्फ़रपुर में सेवा देने आया था अब लुटेरा बन कर लूट रहा है शाशन प्रशासन सबको रिश्व्त का मिठाई खिलाकर मुह बंद किये हुआ है।सभी उपभोक्ता को लुटेरा एस्सेल का बिल नहीं देने की अपील की।

Post A Comment: