सूरज कुमार (उन्नाव ब्यूरो ) की खास रिपोर्ट
*ग्रामीण क्षेत्रों को ग्राम प्रधान और आशा मिलकर बनाएंगे स्वच्छ*


गांवों को ओडीएफ बनाने में अब ग्राम प्रधान के साथ आशा बहू की भी अहम भूमिका होगी। शासन ने ग्राम स्वच्छता समिति के खाता संचालन में आशा बहू को भी पहले से ही अधिकार दे दिया है। जिला पंचायतराज और स्वास्थ्य विभाग जल्द ही आशा और ग्राम प्रधानों का संयुक्त प्रशिक्षण कराकर गांवों को स्वच्छ बनाने और बेहतर स्वास्थ्य के लिए किए जाने वाले उपायों के साथ कर्तव्य बोध भी उपलब्ध कराएगा।
गॉवों को स्वच्छ और ग्रामवासियों को स्वस्थ बनाने के लिये सरकार निरंतर प्रयासरत है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत गांवों में स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है।
सूत्रों के अनुसार जिन गाँवों को ओडीएफ घोषित कर दिया गया है, वहाँ आज भी आधी से ज्यादा आबादी खुले में शौच जा रही है। इसी बीच सरकार ने गांवो को स्वच्छ बनाने के उद्देश्य से ग्राम प्रधान और आशा बहुओं के साथ ग्राम पंचायत सदस्यों की  सहभागिता बढ़ाने का आदेश जारी किया है। जिसमे स्वास्थ्य विभाग उन्हें प्रशिक्षण भी प्राप्त करेगा।

Post A Comment: