पानीपत(सुनील वर्मा): ब्रेक थ्रू वालंटियर्स द्वारा देसराज कालोनी स्थित बी.आर. स्कूल व सरस्वती स्कूल में नुक्कड़ नाटक डर के आगे जीत है दिखाया गया। जिसमें लड़के लड़कियों के बीच भेदभाव को खत्म करने की बात की गई। ब्रेकथ्रू अस्सिस्टेंट मैनेजर संजय कुमार ने कहा कि ब्रेकथ्रू वालंटियर्स आजकल जगह जगह नुक्कड़ नाटकों और गीतों के माध्यम से लोगों को लैंगिक भेदभाव व यौन उत्पीडऩ के खिलाफ जागरूक कर रहे हैं। इसी कड़ी में आज देसराज कालोनी में इस नाटक के माध्यम से दिखाया गया कि लड़कियों के साथ आज भी समाज में बहुत ज्यादा भेदभाव किया जाता है। जन्म लेने से पहले ही गर्भ में कन्या भ्रूण की जांच करवा कर उसका सफ़ाया कर दिया जाता है जिस कारण लिंग अनुपात बेहद कम होता जा रहा है। वहीं आज के समाज में दो साल की बच्चियों से लेकर 80 साल की बुजुर्ग औरतें तक सुरक्षित नहीं हैं। बच्चों को सुरक्षित और असुरक्षित स्पर्श के बारे में समझाते हुए संजय कुमार ने कहा कि अगर कोई भी हमारे साथ गलत हरकत करता है तो हमें चिल्लाकर आसपास के लोगों को बुलाना चाहिए और अपने अभिभावकों व अध्यापकों को बताना चाहिए। ब्रेक थ्रू का अभियान मिशन हजार तभी सफ ल होगा जब हर क्षेत्र में पुरुषों के बराबर संख्या में महिलाएं होंगी। बी.आर. स्कूल के प्रिंसिपल ईश्वर ने कहा कि ब्रेकथ्रू वालंटियर्स का यह अभियान बहुत ही महत्वपूर्ण एवं सन्देशपूर्ण है। आज स्कूलों तक में बच्चे बच्चियां सुरक्षित नहीं है। हमारे बच्चों को खुलकर हर बात अपने अध्यापकों व अभिभावकों को बतानी चाहिए। वहीं सरस्वती स्कूल के प्रिंसिपल जितेंद्र ने कहा कि हर स्कूल व कालेज में ऐसे आयोजन होते रहने चाहिए। डिम्पल, सपना, करिश्मा, शबनम, शिवानी, प्रदीप, विपिन, शीशराम, विकास, दीपक, साहिल, मोहित, आकाश, अरविंदर आदि वालंटियर्स नाटक में शामिल रहे।

Post A Comment: