कभी चलती थी लोगो की ज़िँदगी जिससे आज ओ खन्ढहर हो गया
P NEWS की खास रिपोर्ट 

मोतिहारी / सुजीत कुमार चंद्रवंशी 

जिसे कभी गाँव की पंचायत होती थी आज ओ खन्ढाहर बन गया है ,  लेकिन किसी को इसकी कोई प्रवाह नही है। आप सोच रहे होगे की हम किसकी बात कर रहे है। जी हा हम भँडार गाँव की " खादी ग्राम उधोग "  की बात कर रहे है।  जिसे हम खादिम आश्रम के नाम से जनते थे। आज ओ खण्डहर बन गया है ।  आपको बताते चले की कभी यहा सूत कट कर हजारो घर के दिये जलते थे । इसके आस पास के गाँव जैसे भण्डार,  खोरीपाकर,  देवापूर ,  बेलवा,  नरायणपुर , पदूम्केर, सोरपनीया आदि गाँव के सभी महिलाये सूत कट कर अपना घर चलती थी ।  लेकिन इसके बंद हीने से सभी बेरोजगार हो गइ है ।  यहा जो भी नेता आते है अश्वासन देकर आपना पला झाड़ लेते है।  लेकिन कोई कुछ नही करते ।  इसमे लगी मशीन भी कुछ तो चोरी हो गया लेकिन जो बचा भी है उसे जंग खा रहा है । भगवन ही जने इसका कब उद्धार होगा ।

Post A Comment: