पकड़ा गया फर्जी पत्रकार 

विनय कुमार मिश्र, गोरखपुर
 पत्रकार बन कर पुलिस वालो,नौकरी पेशा,व्यवसासियो आदि को धमकी देकर पैसा वसूली करने वाला फर्जी रिपोर्टर कैफ़ी को आज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।इस फर्जी पत्रकार पर पुलिस मुकदमा दर्ज करके जेल भेज दिया हेै।
 मालुम हो कि जिले में काफी दिनों से एक नामी गिरामी चैनल का पत्रकार बता कर वसूली करने की खबर आ रही थी जिसका पुलिस ने आज पर्दाफास कर दिया।


शहर के बीच चल रहा खतरनाक रसायनों से मिश्रित स्प्रे पेंटिंग का धंधा

सांस की गंभीर बीमारियों का लोग हो रहे शिकार

जिलाधिकारी से ऑनलाइन शिकायत के बाद जागा प्रदूषण विभाग
 गोरखपुर :
एक ओर सरकार टीबी के मरीजों के लिए सर्च अभियान चला रही और जोर शोर से प्रदूषण के खिलाफ जंग छेड़े हुए है तो वहीं दूसरी तरफ सीएम सिटी में घनी आबादी वाले इलाकों में अलमारियों के स्प्रे पेंटिंग का कारोबार दबंगई के साथ बेधड़क चल रहा है। 
शुक्रवार को कोतवाली थाना इलाके के अस्करगंज मोहल्ले में प्रदूषण विभाग की टीम ने आकर मौके पर चल रहे आलमारी पेंटिंग के काम को रुकवा दिया और व्यवसाइयों को सख्त हिदायत देकर टीम वापस चली गई। टीम के वापस लौट जाने के फौरन बाद पेंटिंग का काम फिर शुरू हो गया। इस सम्बंध में जब प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी से जानकारी चाही गई तो उनसे संपर्क नही हो सका।
बताते चलें कि स्थानीय निवासी शेखवातुल्लाह ने मुख्यमंत्री के ऑनलाइन शिकायत पोर्टल पर जिलाधिकारी से शिकायत किया था जिसको संज्ञान में लेते हुए प्रदूषण विभाग की टीम मौके पर पहुंची थी। शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत में कहा है कि स्प्रे पेंटिंग से इलाके में भारी मात्रा में प्रदूषण फैल रहा है क्योंकि इसमें खतरनाक रसायनों का प्रयोग किया जाता है जिससे आसपास के लोग सांस की विभिन्न बीमारियों का शिकार हो रहे हैं। आकड़ों के अनुसार कोतवाली इलाके के आसपास आलमारी पेंटिंग के आधा दर्जन से अधिक कारखाने चल रहे हैं जहाँ खतरनाक रसायनों के मिश्रण से पेंटिग का काम किया जाता है। पेंटिंग के समय रसायन धुएं के रूप में वतावरण में फैल जाते हैं और सांस के रास्ते शरीर में जाकर लोगों की सेहत बिगाड़ रहे हैं।बहरहाल सरकारी व्यवस्था पर दबंग व्यवसाई भारी पड़ रहे है और स्थानीय नागरिकों की सेहत से खिलवाड़ जारी है।

Post A Comment: