महिला महा विद्यालय में महिला सशक्तिकरण हेतु अनोखी पहल 

अजित कुमार यादव की रिपोर्ट :
बहराइच । नारी सुरक्षा सप्ताह अन्तर्गत महिला महाविद्यालय में आयोजित जागरूकता कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए पुलिस अधीक्षक जुगुल किशोर ने छात्राओं का आहवान्ह किया कि आपको अपने बारे में किसी प्रकार का पूर्वाग्रह नहीं होना चाहिए। श्री किशोर ने कहा कि नारी सशक्तिकरण की शुरूआत केन्द्र सरकार द्वारा की गयी है। इस सन्दर्भ में शासन से निर्देश प्राप्त हुए हैं कि शिक्षण संस्थाओं में जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन कर नारी सशक्तिकरण की जानकारी छात्राओं को दी जाय। उन्होंने बताया कि जनपद में 04 से 10 दिसम्बर 2017 तक नारी सुरक्षा सप्ताह मनाया जायेगा। 

पुलिस अधीक्षक ने महिला पावर लाईन 1090 की जानकारी देते हुए बताया कि इसके अतिरिक्त पुलिस विभाग के स्वीटर ऐप पर कोई भी नारी आनलाईन अपनी शिकायत और समस्या को दर्ज करा सकती हैं। उन्होंने कहा कि बालिकाएं समाज का सम्मान हैं। उन्होंने छात्राओं को सोशल मीडिया का सोच समझ कर उपयोग करने की सलाह देते हुए कहा कि अगर आपको कोई शिकायत है तो कदापि छिपायंे नहीं तत्काल सक्षम अधिकारियों के संज्ञान में अवश्य लायें। उन्होंने कहा कि नारी समाज को अपनी बात कहने में आसानी हो इसके लिए सरकार की ओर से कई हेल्पलाइन सेवाएं चालू की गयी हैं। उन्होंने छात्राओं को सलाह दी कि कोई भी समस्या होने पर तत्काल शिकायत दर्ज करायें क्योंकि संकोच करने से असामाजिक तत्वों का हौसला बढ़ता है।

पुलिस अधीक्षक ने छात्राओं को अनचाही काल को अटैण्ड न करने की भी सलाह दी और बताया कि नारी सशक्तिकरण के प्रचार-प्रसार के लिए निबन्ध प्रतियोगिता आयोजित की जायेगी तथा अत्यन्त उपयोगी प्रचार साहित्य का भी वितरण किया जायेगा। उन्होंने छात्राओं को सतर्क व सावधान रहने की भी हिदायत देते हुए कहा कि छात्राओं और महिलाओं की शिकायतों एवं समस्याओं का निराकरण शीर्ष प्राथमिकता पर किया जायेगा। 

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी अजय दीप सिंह ने छात्राओं का आहवान्ह किया कि नारी सशक्तिकरण के लिए संचालित महिला हेल्प लाईन 181 एवं महिला पावर लाईन 1090 पर निःसंकोच होकर अपनी समस्या को दर्ज करायें। ऐसी शिकायतों के सम्बन्ध में पुलिस विभाग द्वारा विकसित ऐप का उपयोग कर आनलाईन अपनी समस्या को रखें और आवश्यकता महसूस होने पर उच्च अधिकारियों के भी संज्ञान में अपनी समस्या को लायें। जिला प्रशासन के संज्ञान में आने पर तत्काल प्रभावी कार्यवाही की जायेगी। 

जिलाधिकारी श्री सिंह ने छात्राओं को यह भी सुझाव दिया कि अपने सम्पर्क में आने वाली दूसरी बालिकाओं एवं महिलाओं को नारी सशक्तिकरण के सम्बन्ध में जागरूक करें। उन्होंने कहा कि जनजागरूकता के माध्यम से इस समस्या पर काबू पाया जा सकता है। उन्होंने छात्राओं को यह भी सुझाव दिया कि अपने पास थानों एवं अधिकारियों के नम्बर सुरक्षित रखें ताकि किसी भी आपातिक स्थिति में आप पुलिस व जिला प्रशासन के आला अधिकारियों से सम्पर्क कर सकते हैं। जिला विद्यालय निरीक्षक राजेन्द्र कुमार पाण्डेय ने अपने सम्बोधन में नारी सुरक्षा सप्ताह के आयोजन के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। जबकि महाविद्यालय की छात्राओं ने प्रशासन से अपेक्षाओं के सम्बन्ध में अपना पक्ष प्रस्तुत किया।

इससे पूर्व महाविद्यालय परिसर पहुॅचने पर जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने माॅ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण किया एवं दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। जबकि महाविद्यालय की छात्राओं द्वारा स्वागतगीत प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम के अन्त में कार्यक्रम अधिकारी डा. मनीषा खन्ना ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

इस अवसर पर पुलिस क्षेत्राधिकारी महसी श्रेष्ठा सिंह, महिला महाविद्यालय के प्रबन्धक मदन लाल अग्रवाल, महाविद्यालय की प्रवक्ता रंजना, मनीषा, विभा सिंह, रीता शुक्ला, महेन्द्र कुमार सोनी, श्याम चैधरी, एस.एन. उपाध्याय सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी, छात्राएं,  शिक्षिकाएं व अन्य प्रबुद्धजन मौजूद रहे। 

Post A Comment: