सुनील वर्मा की रिपोर्ट :पानीपत 29 दिसम्बर : अगर हरियाणा सरकार ने पी.एन.डी.टी. एक्ट की धज्जियां उड़ाने वाले पानीपत स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों व सी.एम. कार्यालय में कार्यरत एक अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई न की तो शिवसेना इस मुद्दे को राज्यसभा में भी उठाएगी। ये आश्वासन शिवसेना के राष्ट्रीय महासचिव एवं राज्यसभा सांसद अनिल देसाई ने शिवसेना के नव नियुक्त प्रदेश प्रमुख हरकेश शर्मा व उनके साथ गए प्रतिनिधिमंडल को दिया। उन्होंने कहा कि वे स्वयं इस मामले में प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को पत्र लिखेंगे व मामले में कार्रवाई की मांग करेंगे। नव नियुक्त प्रदेश प्रमुख हरकेश शर्मा के साथ परदेश कार्यकारी प्रमुख मुकेश बावा, प्रदेश महासचिव अजय धीमान, प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. सुखदाता राम, नफे सिंह मलिक, सचिव ऋषि गौतम, मनमोहन, प्रदेश प्रचार मंत्री ईश्वर सिंह कालवा भी राज्यसभा सांसद से मिलने पहुंचे। शिवसेना प्रदेश प्रमुख हरकेश शर्मा ने अपनी नियुक्ति के लिए सांसद अनिल देसाई का आभार प्रकट किया।
हरकेश शर्मा ने पत्रकारों को बताया कि उन्होंने शिवसेना के राज्यसभा सांसद व राष्ट्रीय महासचिव अनिल देसाई से मुलाकात कर उन्हें स्वास्थ्य विभाग पानीपत के डाक्टरों द्वारा पी.एन.डी.टी. एक्ट की धज्जियां उड़ाने के मामले की रिपोर्ट सौंपी व उन्हें बताया कि किस प्रकार स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी प्रधानमंत्री मोदी के बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान का जनाजा निकालने में लगे हुए हैं। जिसमें मुख्यमंत्री कार्यालय में कार्यरत एक अधिकारी इन डाक्टरों को बचाने में लगा हुआ है। हरियाणा में अधिकारी पूरी तरह से बेलगाम हैं और भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है। उन्होंने सांसद को बताया कि लिंगानुपात के मामले में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी झूठे आंकड़े पेश करके सरकार व जनता को गुमराह कर रहे हैं। जिसके बारे में स्वास्थ्य मंत्री ने जांच के आदेश भी दे रखे हैं इसके बावजूद लंबे समय से कोई रिपोर्ट नहीं आई है। जिससे लगता है कि मामले को ठंडे बस्ते में डालने की साजिश हो रही है। लेकिन शिवसेना इस मामले पर चुप रहने वाली नहीं है। उन्होंने राज्यसभा सांसद के संज्ञान में यह भी लाया कि पानीपत स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत एक अधिकारी पी.एन.डी.टी. एक्ट की धज्जियां उड़ाने के मामले में 50 हजार के मुचलके की जमानत पर है। लेकिन इसके बावजूद उसे जिले में पी.एन.डी.टी. विभाग का इंचार्ज बनाया गया है। जो कि गलत है। बतौर हरकेश शर्मा सांसद अनिल देसाई ने उन्हें यह विश्वास दिलाया कि वे इस मामले को प्रदेश के मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री के संज्ञान में लाएंगे। यदि फिर भी अधिकारियों का रवैया नहीं सुधरा तो राज्यसभा में ये मामला गूंजेगा और सरकार से जवाब लिया जाएगा। सामाजिक हित से जुड़े इस मुद्दे पर शिवसेना चुप नहीं बैठेगी और हर स्तर पर संघर्ष का रास्ता अपनाया जाएगा।

Post A Comment: