साकेत जैन सिवनी मप्र।

घंसौर में एक शिक्षक ग्रुप में अश्लील मैसेज करते हुए मकरसंक्राति की बधाई देने वाले शिक्षक को आखिरकार विभाग ने निलंबित करने की कार्रवाई की है। एसी ट्राइबल से मिली जानकारी के अनुसार शिक्षक आलोक जैन को संस्पेंड कर दिया गया है। इस अवधि में उनका मुख्यालय लखनादौन नियत किया गया है।

क्या है मामला
दरअसल घंसौर के अध्यापक महासंघ घंसौर नाम के एक ग्रुप में एक शिक्षक आलोक जैन ने जो पहले भी विवादित रह चुके हैं, रविवार को मकर संक्राति के लड्डू लिखकर एक अश्लील तस्वीर दोपहर साढ़े बारह बजे के लगभग डाली है। जिसके बाद एक शिक्षक ने भी शिक्षक पद की गरिमा को तारतार करते हुए एक अभद्र प्रतिक्रिया दी है। इस ग्रुप में पौने दो सौ लोग जुड़े हैं जिसमें शिक्षा विभाग के शिक्षकों और अधिकारियों के साथ साथ स्थानीय विधायक योगेन्द्र सिंह भी हैं। दोपहर में डाले गए इस मैसेज के बाद हंगामे की शुरूआत हो गई। इस मामले में शिक्षक का पक्ष जानने के लिए जब हमने उन्हें फोन लगाया तो फोन रिसीव नहीं किया गया। इस ग्रुप की एक एडमिन वर्षा श्रीवास्तव ने इसे महिलाओं के प्रति बेहूदगी बताते हुए कठोर कार्रवाई के लिए अधिकारियों से बात करने की बात कही। वहीं ग्रुप के निर्माणकर्ता मनीष मिश्रा ने इस मामले में जानकारी देते हुए बताया है कि मामला उनकी जानकारी में है। वे मंडला में हैं और घंसौर वापस लौट रहे हैं। उनका कहना है कि इस मामले में एसी साहब ने संज्ञान लिया है और एक प्रतिवेदन मांगा है। जिसके बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। यह शिक्षक शुरू से ही विवादित रहा है जिनके ऊपर पूर्व से सी एम हेल्पलाइन ,कलेक्टर जनसुनवाई, में तरह तरह की शिकायतें लोगो द्वारा की जा चुकी हैं पर अपनी राजनीतिक पकड़ और रुपयों के बलबुते पर वे बचते रहे।
स मामले में वरिष्ठ अधिकारी और स्थानीय विधायकों के जुड़े रहने के कारण मामले ने तूल पकड़ लिया। रविवार की छुट्टी होने के बावजूद प्रशासन सक्रिय हो गया और सोमवार को जांच पूरी कर दोषी शिक्षक पर संस्पेंशन की कार्रवाई कर दी गई।


Post A Comment: