गोरखपुर से विनय कुमार मिश्र 
गोरखपुरब्यूरों।हत्या के प्रयास के मामले में दोषी पाए जाने पर अपर जिला जज राज कुमार ने हरेन्द्र यादव उर्फ साधु को 10 साल की कठोर कैद एवं आर्म्स एक्ट के मुकदमे में एक साल के कारावास और 12 हजार रुपये जुर्माना की सजा सुनाई है।अर्थदण्ड नहीं देने पर अभियुक्त को सात माह के कैद की सजा अतिरिक्त भुगतनी होगी।अभियुक्त झंगहा थाना क्षेत्र के बेलवा गांव का निवासी है।अदालत के समक्ष अभियोजन पक्ष की ओर से एडीजीसी श्रद्धानंद पांडेय का कहना था कि वादी दिनेश झंगहा क्षेत्र के लालपुर गांव का रहने वाला है। 30 जून 2013 की रात करीब 9 बजे वादी अपने घर पर पत्नी और बच्चे के साथ बरामदे में सोया था इस बीच हरेन्द्र यादव मौके पर पहुंचा और सोए लोगों पर टार्च जलाने लगा।
वादी का छोटा भाई दुर्गेश जायसवाल टार्च जलाने से मना किया।इस पर अभियुक्त ने जान मारने की नीयत से दुर्गेश के पेट में चाकू मार दिया।अभियुक्त ने रंजिश वस फंसाए जाने की बात कही।अदालत ने पत्रावली में उपलब्ध साक्ष्यों एवं दोनों पक्ष को सुनने के बाद अभियुक्त के खिलाफ हत्या के प्रयास का जुर्म सिद्ध पाया और यह सजा सुनाई। 

Post A Comment: