गुदड़ी के लाल सम्मान समारोह में हाई स्कूल वर्ग में आस्था निषाद को साईकिल व इण्टर वर्ग में दिव्या वर्मा को टेबलेट देकर किया गया सम्मानित
ब्यूरोचीफ अरुण साहू के साथ अनिल कुमार निषाद
सुल्तानपुर। सावित्री बाई फूले की जयन्ती के अवसर पर तिकोनिया पार्क  सुलतानपुर मे आयोजित गुदड़ी के लाल सम्मान समारोह में जनपद के सामाजिक चिन्तको आर०ए० कोविद, बृजलाल निषाद, बृजेश वर्मा, सुरेश बौद्ध, छोटेलाल निषाद, सीताराम निषाद, खेमई प्रसाद निषाद, श्यामलाल बौद्ध, डा0 राम आसरे डिप्टी सी0एम00, डा0 विनीता गौतम, निजाम खान, सरजूदीन बौद्ध, राम सूरत बौद्ध, करतार केशव समाजसेवी, डा0 जयभीम, जेपी निषाद, बृजेश वर्मा, सुरेश कुमार मौर्य, मनोज कुमार, अशोक, एन0डी0 विद्रोही, सुभाषचन्द्र, उदय प्रताप कोरी, राम सूरत मौर्या, राम सदल निषाद द्वारा हाई स्कूल व इण्टर के मेधावी छात्र-छात्राओ को टेवलेट, साइकिल, चेयर टेवल, लैम्प, स्कूली बैग व स्कूल टिफिन से प्रदान कर मोस्ट समाज को शिक्षा के प्रति प्रोत्साहन व अभिप्रेरित किया गया। हाई स्कूल वर्ग में प्रथम पुरस्कार आस्था निषाद को साइकिल, द्वितीय-कुलदीप निषाद को चेयर टेवल सोलर लैम्प, तृतीय रानी अंजलि को सोलर लैम्प इण्टर वर्ग में प्रथम पुरस्कार-दिव्या वर्मा को टेबलेट, द्वितीय-अरुणिमा को चेयर टेवल सोलर लैम्प, तृतीय- अलका को सोलर लैम्प के साथ-साथ उक्त गुदड़ी के लाल के माता-पिता को भी साल प्रदान कर सम्मानित किया गया। 24 बच्चों को स्कूल बैग व प्रतिभाग करने वाले सभी बच्चो को स्कूल टिफिन व माता सावित्री बाई रत्न से सम्मानित किया गया। उक्त अवसर पर कार्यक्रम के आयोजक, शिक्षक श्यामलाल निषाद ने कहा कि अशिक्षा देश व समाज की प्रगति मे बाधक है समाज को शिक्षित और संगठित सहकारिता समन्वय व सहयोग की दिशा में काम करने के लिए मोस्ट कल्याण संस्थान दृढ़ संकल्प है, जनपद का जो बच्चा आर्थिक तंगी के कारण पढ़ाई नही कर रहे है ऐसे बच्चो को पढ़ाई का पूरा खर्चा, दीन-दुखियों को हर सम्भव मद्द के साथ-साथ शोषण व अत्याचार के खिलाफ लड़ाई लड़कर मोस्ट समाज को हक-अधिकार दिलाने के लिए मोस्ट कल्याण संस्थान संघर्ष करेगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता श्यामलाल बौद्ध तथा संचालन डॉ. राजकरन व रविकांत निषाद ने किया। उक्त अवसर पर छोटेलाल निषाद, मगन निषाद, राम सजीवन निषाद, वृन्दा प्रसाद निषाद, योगेश निषाद, संतराम निषाद, सुरेश मौर्यमेवालाल भास्कर, शिव प्रसाद कश्यप, रमेशचन्द्र, समर निषाद, राममूर्ति निषाद, अमरीश वर्मा, रमाशंकर प्रजापति, सोनी, अब्दुल गनी खान, श्रीराम निषाद आदि वक्ताओं ने मोस्ट पिछड़े समाज को शिक्षित और संगठित होने पर बल  दिया।




Post A Comment: