अमित कुमार यादव की रिपोर्ट नई दिल्ली 
राजधानी दिल्ली में ट्रैफिक को सुचारू रूप से चलाने और सड़क हादसों में कमी लाने के लिए दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने प्लान तैयार किया है. दिल्ली ट्रैफिक पुलिस एक निजी कार कंपनी के साथ मिलकर स्वचालित इंट्रीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम लाने की तैयारी कर रही है.

पहले चरण में सराय काले खां से धौला कुआं तक के स्ट्रेच पर काम करेगी. जिसके तहत 10 जंक्शन जैसे, काले खां, महारानी बाग, लाजपत नगर, साउथ एक्स, एम्स और मोती बाग जैसी जगहों पर 160 हाई क्वालिटी के कैमरे लगाए जाएंगे.

इन जगहों पर ट्रैफिक पुलिस के 150 जवानों को तैनात किया जाएगा. कैमरों की खासियत ये होगी कि ये चलती गाड़ियों का भी चालान काट सकेगा. यानि नंबर डिटेक्ट हो सकेगा. अगर आप गाड़ी चलाते समय हाई स्पीड, रेड लाइट जम्प और लेन में ड्राइव नहीं करते हैं तो आप का चालान कट जाएगा.

कटा चालान सीधे आपके घर भेज दिया जाएगा या फिर अगले जंक्शन पर खड़े ट्रैफिक पुलिस सबूत के साथ आप को सौप देंगे. इसके लिए मंगलवार को सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडक
री को एमओयू सौंपा जाएगा.

ट्रैफिक पुलिस की माने तो इस स्ट्रेच पर हर रोज करीब 8 लाख गाड़ियां गुजरती हैं. पुलिस के आंकड़े के अनुसार दिल्ली में जितने भी चालान होते हैं उसमें 30 फीसदी इसी स्ट्रेच पर होते हैं. इस सिस्टम के जरिए अगर ट्रैफिक पुलिस व्य्वस्था पर कंट्रोल कर पाती है तो दिल्ली के दूसरे सड़कों पर भी स्वचालित ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम लाया जायेगा. 
Attachments area

Post A Comment: