विकास कार्यों का लक्ष्य समय सीमा के अन्दर पूर्ण किया जाय- प्रभारी मंत्री 
गड्ढ़ा मुक्त की गयी सड़कों का टीम गठित कर सत्यापन होगा।
सुलतानपुर से अरुण साहू के साथ अनिल निषाद की रिपोर्ट :
 प्रदेश के आबकारी एवं मद्य निषेध मंत्री /जनपद प्रभारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि विकास योजनाओं का निर्धारित लक्ष्य समय सीमा के अन्दर पूर्ण किया जाय। उन्होंने बताया कि बजट का आवंटन शासन द्वारा किया जा चुका है, सम्बन्धित अधिकारी अपने विभाग से सम्पर्क कर बजट आवंटित करायें एवं निर्धारित समय सीमा में कार्य पूर्ण करें। प्रभारी मंत्री आज कलेक्ट्रेट में राजस्व , कानून व्यवस्था एवं विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। 
प्रभारी मंत्री ने सभी कार्यालयाध्यक्षों को निर्देशित किया कि शासन द्वारा बजट का आवंटन विभागों को किया जा चुका है। सभी अधिकारी अपने विभागाध्यक्ष से सम्पर्क कर बजट आवंटन करायें तथा समय से कार्यों को पूरा करें। प्रभारी मंत्री ने शासन के निर्देशानुसार जिले में लोक निर्माण विभाग सहित विभिन्न कार्यदायी संस्थाओं द्वारा गड्ढ़ा मुक्त की गयी सड़कों की समीक्षा की। उन्होंने समीक्षा में पाया कि लोक निर्माण विभाग द्वारा 1238 कि.मी. सड़क को गड्ढा मुक्त किया गया है, जिसके सापेक्ष 02 करोड़ 84 लाख रूपये व्यय किये गये हैं। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना द्वारा 64.3 कि.मी. सड़क गड्ढ़ा मुक्त कार्य कराया गया है। इसी प्रकार जिला पंचायत द्वारा 72 सड़कों तथा मण्डी समिति द्वारा 67 सड़कों को गड्ढ़ा मुक्त किया गया है। प्रभारी मंत्री ने जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि इन सभी कार्यदायी संस्थाओं द्वारा गड्ढ़ा मुक्त की गयी सड़कों की सूची सभी मा. विधायकगणों को उपलब्ध करायें तथा तीन अधिकारियों की टीम गठित कर दो-दो सड़कों का स्थलीय सत्यापन करायें। 
प्रभारी मंत्री ने समीक्षा में पाया कि वर्ष 2017-18 में प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के अन्तर्गत 10 हजार 868 के सापेक्ष अब तक 10 हजार 758 को प्रथम किस्त तथा 09 हजार 568 को दूसरी किस्त भेजी जा चुकी है। प्रभारी मंत्री ने परियोजना निदेशक को निर्देशित किया कि सभी मा. विधायकगणों को प्रधानमंत्री आवास के लाभार्थियों की सूची उपलब्ध करायें। प्रभारी मंत्री ने समीक्षा में पाया कि नगर स्थित बस स्टेशन के भवन निर्माण का कार्य पूर्ण हो चुका है। उन्होंने सम्बन्धित कार्यदायी संस्था को शौचालय आदि के कार्य को पूर्ण कर एक सप्ताह के अन्दर भवन के हस्तान्तरण के निर्देश दिये। उन्होंने जिला महिला चिकित्सालय के 100 बेड वाले मैटरनिटी विंग के निर्माण की समीक्षा में पाया कि विद्युतीकरण के कार्य को छोड़कर शेष निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। प्रभारी मंत्री ने अधिशाषी अभियन्ता विद्युत को एक सप्ताह के अन्दर भवन का उर्जीकरण कराने के निर्देश दिये। प्रभारी मंत्री ने सी.एच.सी. करौंदीकला, बढ़ौनाडीह, जयसिंहपुर, जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय भवन, पुलिस प्रशिक्षण केन्द्र ,आई.टी.आई. लम्भुआ, आई.टी.आई. जयसिंहपुर, विद्युत उपकेन्द्र भदैंया, लोलेपुर, असरोगा तथा उपरिगामी सेतु धोपाप घाट, इमिलिया घाट आदि की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने सभी सम्बन्धित कार्यदायी संस्थाओं को यथाशीद्य्र निर्माण कार्य पूरा कर हस्तान्तरण के निर्देश दिये। नहरों की सिल्ट सफाई के बारे में प्रभारी मंत्री ने अधिशाषी अभियन्ता को निर्देशित किया कि जिन नहरों/माईनरों की सिल्ट सफाई करायी जाय, उसकी कार्य योजना समय से सम्बन्धित विधायकगणों को अनिवार्य रूप से उपलब्ध करायी जाय। 
प्रभारी मंत्री ने बैठक में किसान पारदर्शी योजना, मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरण तथा उर्वरक की उपलब्धता की समीक्षा की। जानकारी दी गयी कि जनपद में उर्वरक की कमी नहीं है। उन्होंने किसान पारदर्शी योजना के अन्तर्गत पंजीकरण में सुधार तथा मृदा स्वास्थ्य कार्ड के वितरण पर विशेष बल दिया। 
बैठक  में जिलाधिकारी हरेन्द्र वीर सिंह, पुलिस अधीक्षक अमित वर्मा, सी.डी.ओ. रामयज्ञ मिश्र, अपर जिलाधिकारी प्रशासन बी.डी.सिंह, सी.एम.ओ. डाॅ.सी.वी.एन. त्रिपाठी, विधायक सदर सीताराम वर्मा, विधायक कादीपुर राजेश गौतम, एम.एल.सी. शैलेन्द्र प्रताप सिंह,नगर पालिका अध्यक्ष बबिता जायसवाल, विधायक सुलतानपुर के प्रतिनिधि उमेश कुमार सिंह, जिला विकास अधिकारी डाॅ.डी.आर. विश्वकर्मा, पी.डी.एस.के.द्विवेदी, जिला सूचना अधिकारी आर.बी.सिंह व सम्बन्धित उपस्थित थे। बैठक का संचालन जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी पन्नालाल ने किया। 

Post A Comment: