दिलीप पांडेय की रिपोर्ट - शिवहर 

 शिवहर -  बिहार के कद्दावर नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुनाथ झा जी का  दिल्ली में राम मनोहर लोहिया अस्पताल में इलाज के दौरान कल देर रात उनका निधनं हो गया 

 शिवहर के अम्बाकला निवासी रघुनाथ झा 78 साल के थे। वे बिहार के राजनीति के एक प्रमुख हस्ती थे।

 उनका 37 वर्षों का संसदीय जीवन यहां है। वे लगातार छह वार शिवहर से विधायक और दो बार क्रमशः गोपालगंज ओर बेतिया से सांसद रहे। बिहार सरकार ने डेढ़ दर्जन से अधिक विभागों के मंत्री रहे। इसके अलावा वे केन्द्र में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सरकार ने भारी उद्योग राज्य मंत्री रहे।
स्व. झा जनता दल के गठन के बाद उसके प्रथम प्रदेश अध्यक्ष के साथ साथ सजपा ओर समता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रहे थे। साथ ही जनता विधानमंडल दल के नेता और जनता दल और समता पार्टी दल के मुख्य सचेतक भी रहे थे।  वे 1990 में मुख्यमंत्री पद का चुनाव  भी लडा था तथा लालू प्रसाद को मुख्यमंत्री बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। शिवहर जिला के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। स्व. झा अपने पिछे एक पुत्र और पुत्री सहित भरा-पूरा परिवार छोड़ गए हैं। उनके पुत्र अजीत कुमार झा शिवहर के विधायक रहे हैं और लगातार राजनीति में 
सक्रिय हैं।

 *मुखिया से मंत्री तक* 
बिहार के कद्दावर नेता शिवहर के अम्बाकला के रहने वाले रघुनाथ झा 78 वर्ष के थे। वे बिहार के राजनीति के एक प्रमुख हस्ती थे।
* वर्ष 1969 में शिवहर जिले के पिपराही प्रखंड के अम्बा कला पंचायत से मुखिया
*19776* में सीतामढ़ी जिला परिषद के अध्यक्ष
*1972*से *1998* तक शिवहर विधानसभा क्षेत्र से लगातार छह वार विधायक
*1999*से *2004*  तक समता पार्टी के टिकट पर गोपालगंज से सांसद 
*2004* से *2009* तक बेतिया से राजद के टिकट पर सांसद
*1980* पहली बार डॉक्टर जगन्नाथ मिश्र के मुख्यमंत्रित्व काल में बिहार सरकार में मंत्री बने
 उस समय 1983 तक पीडब्ल्यूडी शिक्षा एवं एक राज्य मंत्री रहे
*1985* में जनता पार्टी के टिकट पर विधायक चुने गए और जनता विधानमंडल दल के नेता निर्वाचित किए गए 
*1989* जनता दल के गठन बाद पार्टी के पहले प्रदेशाध्यक्ष बने
*1990* में हुए मुख्यमंत्री के चुनाव में जनता दल का चुनाव लड़ा और उन्हें *27* मत प्राप्त हुआ 
*1990* में लालू प्रसाद के नेतृत्व में बनी सरकार में दूसरे नंबर पर मंत्री बने और *संसदीय कार्य*, *स्वास्थ्य, सांस्थिक* *वित्त तथा लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण सहित आधा दर्जन विभागों के मंत्री बनाए गए* । 
 पुनः *1993* में राज्य सरकार में *संसदीय कार्य एवं खाद्य आपूर्ति मंत्री बने* 1993 से 1998 तक राज्य सरकार में मंत्री रहे
*1998* में लालू प्रसाद से मतभेद होने के बाद राजद से अलग होकर समता पार्टी में शामिल हुए और नैतिकता के आधार पर बिहार विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दी 
1999 में गोपालगंज से सांसद बने
 2004 में बेतिया से सांसद बने 2008 में केंद्र की मनमोहन सिंह सरकार में भारी उद्योग राज्य मंत्री बनाए गए

Post A Comment: