पल्स पोलिया प्रतिरक्षण अभियान में शिथिलता वरतने पर कड़ी कार्यवाही होगी-डी.एम.
पिछले अभियान में खराब प्रगति वाले 05 प्रभारी चिकित्साधिकारियों को सुधार लाने हेतु चेतावनी।  
सुलतानपुर से अरुण साहू की रिपोर्ट |
जिलाधिकारी हरेन्द्र वीर सिंह ने सभी सम्बन्धित को निर्देशित करते हुये कहा कि आगामी 28 जनवरी से प्रारम्भ हो रहे पल्स पोलियो प्रतिरक्षण अभियान में शिथिलता वरतने पर कड़ी कार्यवाही होगी। उन्होंने पिछले अभियान में खराब प्रगति वाले 05 प्रभारी चिकित्साधिकारियों को चेतावनी देते हुये इस अभियान में सुधार लाने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी आज कलेक्ट्रेट में पल्स पोलियो प्रतिरक्षण अभियान की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। 
जिलाधिकारी ने सितम्बर माह में संचालित पल्स पोलियो अभियान की समीक्षा में पाया कि दोस्तपुर, जयसिंहपुर, धनपतगंज, भदैयां, लम्भुआ की प्रगति खराब रही। इन सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को चेतावनी देते हुये इस अभियान में सुधार लाने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने समीक्षा में पाया कि पिछले अभियान में भदैयां, धनपतगंज तथा लम्भुआ का बूथ कवरेज एवं दोस्तपुर धनपतगंज का न्यू बार्न चिल्ड्रेन का कवरेज, दोस्तपुर , जयसिंहपुरका रिमेनिंग एक्स हाउस की प्रगति खराब रही। जिलाधिकारी ने सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को निर्देशित किया कि वे अपने ब्लाक तथा तहसील से सम्बन्धित टास्क फोर्स की बैठकें यथाशीद्य्र करा लें तथा 23 जनवरी के पूर्व माइक्रो प्लान तैयार कर प्रस्तुत करें। 
बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ.सी.वी.एन. त्रिपाठी ने बताया कि आगामी पल्स पोलियो अभियान के लिये कुल 1105 बूथ बनाये जायेंगे तथा घर -घर टीमों की संख्या 745 , मोबाइल टीमों की संख्या 25, ट्रांजिट टीमों की संख्या 36 , टीम सुपरवाइजरों की संख्या 241 तथा सेक्टर सुपरवाइजरों की संख्या 45 होगी। इस अवसर पर बैठक का संचालन करती हुई एस.एम.ओ. अमनप्रीत कौर ने सायं सुपरवाइजरों की बैठक कराने पर विशेष बल दिया। 
इस अवसर पर जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक भी सम्पन्न हुई। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि आशा के मानदेय का शतप्रतिशत भुगतान सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने मदर एवं चाइल्ड रजिस्ट्रेशन तथ नियमित टीकाकरण को बढ़ाने पर विशेष बल दिया। बैठक में सारथी वाहन को किराये पर लेने की स्वीकृत प्रदान की गयी। बैठक में सी.एम.ओ. डाॅ.सी.वी.एन. त्रिपाठी ने बताया कि ग्राम स्वास्थ्य स्वच्छता व पोषण समिति का संचालन अब ग्राम प्रधान तथा आशा के संयुक्त हस्ताक्षर से होगा। उन्होंने सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को खाता खुलवाने के निर्देश दिये। 
उपरोक्त बैठकों में मुख्य विकास अधिकारी राधेश्याम, जिला विकास अधिकारी डाॅ.डी.आर. विश्वकर्मा, सी.एम.एस. महिला डाॅ.उर्मिला चैधरी, सी.एम.एस. पुरूष चिकित्सालय योगेन्द्र यती, जिला सूचना अधिकारी आर.बी.सिंह, डी.पी.एम. सन्तोष कुमार व सम्बन्धित उपस्थित थे। 

Post A Comment: