मुज़फ़्फ़रपुर मुशहरी से राहुल कुमार की रिपोर्ट
मुजफ्फरपुर-बरौनी एनएच-28 समेत सूबे की तीन सड़कों को टू लेन से फोरलेन बनाने का निर्णय लिया गया है। भूतल परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय से हरी झंडी मिलने के बाद तीनों सड़कों का डीपीआर बनाया जाएगा। एनएचएआई ने इसका डीपीआर बनाने के लिए बुधवार को टेंडर खुलेआम किया। टेंडर भरने की आखिरी तिथि 9 फरवरी 2018 है।मालूम हो कि वर्ष 2016 में ही 108 किलोमीटर लंबे मुजफ्फरपुर-बरौनी हाइवे टू-लेन का निर्माण पूरा हुआ था। 17 अक्टूबर 2016 को इसका लोकार्पण करने मुजफ्फरपुर पहुंचे केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने उसी दिन घोषणा की थी कि इस सड़क को फोरलेन बनाया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने छपरा-सीवान- गोपालगंज (एनएच-85) और छपरा- रेवाघाट-मुजफ्फरपुर (एनएच-102) की दो लेन के निर्माण का शिलान्यास किया था। इन दोनों सड़कों का निर्माण अंतिम चरण में है।
इसी बीच मंत्रालय ने मुजफ्फरपुर-बरौनी के साथ-साथ एनएच-31 के खगड़िया-पूर्णिया सेक्शन को फोरलेन किया जाएगा। इस हिस्से की लंबाई 140 किलोमीटर होगी। एनएच-80 व एनएच-31 को मोकामा-मुंगेर सेक्शन भी टू लेन से फोरलेन होगा। इसकी लंबाई 69 किलोमीटर होगी।

Post A Comment: