अमित कुमार यादव की रिपोर्ट नई दिल्ली से
स्वच्छ सर्वेक्षण में लगातार पिछड़ रही नार्थ एमसीडी ने स्वच्छ सर्वेक्षण 2018 में अपनी रैंकिंग सुधारने के लिए कड़े कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. इसी कड़ी में नार्थ एमसीडी में स्थायी समिति अध्यक्ष तिलक राज कटारिया ने बुधवार को कहा कि दिल्ली में लोगों की ओर से बड़े पैमाने पर भण्डारा करवाया जाता है, लेकिन देखा गया है कि भंडारे के बाद उस जगह पर कूड़े का ढेर लग जाता है. गन्दगी और बदबू फैलती है.

कटारिया ने कहा कि अब से भण्डारे करने के बाद इलाके में गन्दगी हुई तो भंडारा करवाने वाले का चालान किया जाएगा. कटारिया ने भंडारा करने वालों से अपील की है कि वो भंडारे वाली जगह पर कूड़ेदान रखें ताकि लोग कूड़ा उसी में डालें.
तिलक राज कटारिया के मुताबिक कुछ दिन पहले उन्होंने देखा कि मकर संक्रांति का त्यौहार दिल्ली में बड़े ही धूमधाम से मनाया गया. पूरी दिल्ली में अनेकों जगह पर भण्डारे व माता की चौकी, भजन संध्या , प्रसाद वितरण हुए, लेकिन त्यौहार ख़त्म होने पर देखा कि सड़कों पर पेपर प्लेट्स और डोने आदि बिखरे हुए थे. तिलक राज कटारिया ने भण्डारे करने वालों से अपील करते हुए कहा कि " ख़ुशी के पर्वों पर जिस प्रकार भंडारे लगाते है उसी के साथ साथ कूड़ेदान का प्रयोग भी करना चाहिए और भंडारा ख़त्म होने पर उस जगह को साफ़ और स्वच्छ छोड़ना चाहिये.
कटारिया ने कहा कि भंडारा करवाना एक पुण्य का काम है, लेकिन इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि इससे दूसरों को परेशानी ना हो.
Attachments area

Post A Comment: